नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। हम लोग कद्दू की सब्जी तो खाते हैं, लेकिन उसके बीजों को फेंक देते हैं। बेशुमार औषधीय गुणों से भरपूर कद्दू की सब्जी जितनी सेहत के लिए उपयोगी है, उतने ही उसके बीज भी सेहत के लिए फायदेमंद हैं। कद्दू के बीज दिल तक की बीमारियों का इलाज करने की क्षमता रखते हैं। दिल के मरीजों के लिए कद्दू की सब्जी के साथ ही उसके बीज़ भी बेहद उपयोगी है। कद्दू के बीज का इस्तेमाल उसका तेल निकाल कर किया जाए तो सेहत को बेपनाह फायदे होते हैं।

कद्दू के बीज कई बीमारियों का उपचार करते है, इसमें मिनरल्स, विटामिन, हाई फाइबर मौजूद होते हैं जो सेहत के लिए उपयोगी है। कद्दू के बीज विटामिन K और विटामिन A से भरपूर होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर ये बीज फ्री रेडिकल से बचाव करते हैं, साथ ही शरीर को बीमारी से बचाते हैं। पंपकिन सीड ऑयल में जिंक सबसे ज्यादा होता है। शरीर में जिंक आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। आइए जानते हैं कि कद्दू के तेल का उपयोग सेहत के लिए किस तरह फायदेमंद है।

डिप्रेशन का इलाज करते हैं:

कद्दू के बीज का तेल और कद्दू के बीजों का सेवन करने से डिप्रेशन का इलाज होता है। कद्दू के बीज और उसका तेल इस्तेमाल करने से मूड को ठीक करने में मदद मिलती है।

दिल की सेहत का ध्यान रखता है ये तेल:

सैचुरेटेड फैट दिल की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। कद्दू के बीजों से निकाला गया तेल अनसैचुरेटेड फैट होता है जो दिल को सेहतमंद रखता है। यह तेल दिल के लिए ‘गुड फैट’ प्रदान करता है। चूहों पर किए गए एक अध्ययन में यह सामने आई है कि कद्दू के बीज का तेल कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में असरदार है।

यूरिनरी ट्रैक पर करते हैं असर:

कद्दू के बीज का तेल यूरिनरी ट्रैक पर बेहद सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। यूरिनरी ट्रैक किडनी, ब्लैडर और उरेठरा से बना होता है। अगर आप हार्ट हेल्थ के अनुकूल किसी अच्छे तेल की तलाश में हैं तो कद्दू के तेल का इस्तेमाल कीजिए। 

बालों के लिए बेहद उपयोगी है:

कद्दू के बीज से तैयार किया गया तेल बालों की ग्रोथ बढ़ाने में बेहद असरदार है। एक अध्ययन के मुताबिक जिन पुरुषों ने 24 हफ्तों तक हर दिन 400 मिलीग्राम कद्दू के तेल का इस्तेमाल किया उनके बालों का विकास 40 फीसदी तक अधिक रहा। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor