नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। सर्दियों में हमारी थाली का अहम हिस्सा होता है गुड़, जो हमारी बॉडी की सर्दी से हिफ़ाज़त करता है। गुड़ सर्दी में होने वाली कई बीमारियों का उपचार करता है। इसका सेवन करने से इम्यूनिटी इम्प्रूव होती है, साथ ही सर्दी-ज़ुकाम से भी निजात मिलती है। सर्दियों में गुड़ का सेवन करने से पाचन ठीक रहता है साथ ही स्किन में भी निखार आता है। शकर की तुलना में गुड पचाने में शरीर को काफी कम कैलोरी खर्च करनी पड़ती है। गुड़ में कैल्शियम और फास्फोरस भरपूर मात्रा में होता है जो हड्डियां मजबूत बनाता है। इसके अलावा गुड़ में मैग्नीशियम, पोटेशियम, आयरन और कापर भी भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो अच्छी सेहत के लिए जरूरी हैं।

गुड़ खून को साफ करता है और मेटाबालिज्म को भी ठीक रखता है। जिन लोगों को गैस की समस्या होती है, उनके लिए भोजन के बाद गुड खाना फायदेमंद है। आइए जानते हैं कि इतने उपयोगी गुड़ का सेवन करने से बॉडी को कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं।

गुड़ खाने के फायदे

गैस से निजात दिलाता है:

अगर आपको गैस की समस्या है तो गुड़ खाएं। खुड़ खाने से आपको गैस से निजात मिलेगी। आप गुड़ का सेवन सेंधा नमक और काला नमक मिलाकर कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको खट्टी डकारों से निजात मिलेगी।

खून की कमी दूर करता है:

गुड़ आयरन का बेहतरीन स्रोत है। अगर आपका हिमोग्लोबिन कम है तो रोजाना गुड़ खाने से आपको फायदा मिलेगा, क्योंकि गुड़ खाने से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की मात्रा बढ़ जाती है।

झुर्रियां करे दूर करता है गुड़:

गुड़ आपके चेहरे की झुर्रियां दूर करने में भी असरदार है। चेहरे की झुर्रियां दूर करने के लिए आप 1 चम्मच पिसे हुए गुड़ में एक चम्मच ब्लैक टी, एक चम्मच अंगूर का रस, एक चुटकी हल्दी और थोड़ा गुलाब जल मिक्स करें। इसके बाद इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट बाद चेहरा वॉश कर लें आपको फर्क साफ दिखेगा।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहेगा:

गुड़ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने का काम भी करता है। जिन लोगों का ब्लड प्रेशर हाई रहता है वो रोज़ाना गुड़ का सेवन करें।

हड्डियों को मज़बूत करता है गुड़:

गुड़ में भरपूर मात्रा में कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है, जो शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने में बेहद मददगार है। गुड़ के साथ अदरक खाने से जोड़ों के दर्द से जल्द ही छुटकारा मिलता है। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor