कभी-कभार डैंड्रफ की समस्या होना बहुत आम बात है, लेकिन एलर्जेटिक डैंड्रफ जिद्दी होती है और यह हमेशा के लिए दूर नहीं हो पाती। नियमित सफाई और मालिश के बाद भी डैंड्रफ की समस्या खत्म न हो तो यह चिंता का कारण हो सकती है। ऐसे में डर्मेटोलॉजिस्ट और डॉक्टर की सलाह लेना बहुत जरूरी है। डैंड्रफ मुख्यत: दो प्रकार की होती है, लेकिन आधुनिक लाइफस्टाइल और खानपान की गलत आदतों के कारण लॉन्ग टर्म डैंड्रफ की समस्या भी लोगों को काफी परेशान कर रही है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो जानें बचने के कुछ कारगर उपाय।

मुख्य लक्षण

हालांकि यह व्यक्ति विशेष की समस्या पर निर्भर करता है। फिर भी इसके मुख्य लक्षण हैं।

1. सिर की त्वचा और बालों पर सफेद पपड़ी नजर आना और ये पपड़ी ऑयली भी हो सकती है।

2. सिर की त्वचा पर खिंचाव और खुजली होना। सिर पर सिहरन सी महसूस होना। 

3. सिर की त्वचा पर संक्रमण होना या घाव सा महसूस होना। 

4. लाली, ग्रीसी पैचेज और पपड़ी नजर आना। 

5. कान में अक्सर खुजली महसूस होना

घरेलू नुस्खों से दूर करें डैंड्रफ की समस्या

1. आमंड ऑयल में गुलाबजल मिलाकर सिर की त्वचा पर लगाएं। इसे सिर की त्वचा पर अच्छी तरह मलें। करीब आधे घंटे बाद धो लें।

2. आमंड ऑयल से सिर की मालिश करने के बाद बालों को स्टीम दें।

3. एक टेबलस्पून जोजोबा ऑयल, एक टेबलस्पून कैस्टर ऑयल, एक टेबलस्पून सोया वेजीटेबल ऑयल में एक तेजपत्ता डालकर कुछ देर तक धीमी आंच पर उबालें। फिर इसे छानकर इसमें दो बूंद सैंडलवुड ऑयल और दो बूंद लैवेंडर ऑयल मिलाएं। इसे रोजाना रात में सोने से पहले सिर पर लगाकर मालिश करें। अगले दिन सुबह शैंपू करें।

4. एक गिलास पानी में एक तेजपत्ता डालकर थोड़ी देर तक उबालें। फिर इसे छानकर इसमें दो बूंद लैवेंडर ऑयल व दो बूंद नींबू का रस मिलाकर प्रतिदिन इससे सिर की मालिश करें। दूसरे दिन सुबह शैंपू करें।

5. पानी में दो टीस्पून मेथी दाना रातभर के लिए भिगो दें। सुबह इसका पेस्ट बनाकर उसमें दो-तीन बूंद नींबू का रस मिलाएं। इसे सिर पर लगाएं। आधे घंटे बाद हर्बल शैंपू से बालों को धो लें। ऐसा सप्ताह में एक बार अवश्य करें।

Posted By: Priyanka Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस