आभूषण सिर्फ स्त्रियों को ही नहीं बल्कि पुरुषों को भी आकर्षित करते हैं। मेल एक्सेसरीज का चलन भारतीय समाज में सदियों से रहा है। शादी-ब्याह के इस अवसर पर बन्ने राजा के लिए किस तरह की एक्सेसरीज चलन में हैं आइए जानें ।

बन्ने की पगड़ी की सजावट कलगी के बिना अधूरी है और कुंदन की बनी कलगी बढ़ाएगी इसकी शान।

गोल्ड और प्लेटिनम से बने और हीरों से जड़े इस गुलबंद हार को बड़ी बारी$की से डिजाइन किया गया है।

शेरवानी, कोट और कुर्तों में कफलिंग्स का चलन बहुत पुराना है। कुंदन के बने ये कफलिंग्स आपको जरूर आकर्षित करेंगे। मोतियों और कुंदन से बना हार बन्ने की शान और शेरवानी के लुक, दोनों को बढ़ाने के लिए काफी है।शाही घरानों से निकलकर ब्रोच का फैशन अब क्लासिक और फॉर्मल लुक की शान बढ़ा रहा है।

 

आभूषणों की जगमगाहट से दुलहन का श्रृंगार और भी खिल उठता है। शादी-ब्याह के अवसर पर गहनों की डिजाइन को भी दुलहन की पसंद के अनुसार ही बनाया जाता है।  कुंदन से बना यह जड़ाऊ हार आपके महत्वपूर्ण दिन को बना देगा और भी खूबसूरत रजवाड़ा स्टाइल का यह हार गोल्ड, कुंदन और मोती से मिलकर बना है पारंपरिक डिजाइन से अलग यह ब्रेसलेट गोल्ड और हीरे से बने नायाब डिजाइन का नमूना है।नथ न सिर्फ बन्नी की सुंदरता बढ़ाती है, बल्कि इसे मान-सम्मान का प्रतीक भी माना जाता है। कंगन की डिजाइन वाला यह ब्रेसलेट बना है गोल्ड और कुंदन से, जिस पर लगा पन्ना इसे और भी नायाब बना रहा है।

Posted By: Pratima Jaiswal