कितने लोगों के लिए : 7

सामग्री :

रसगुल्ला के लिए छेना, 1 टी.स्पून मैदा।

चाशनी के लिए

1/2 कप दूध, 5 कप चीनी।

केसर दूध के लिए

1 लीटर दूध, 1/4 कप चीनी, चुटकी भर केसर, 1/4 टी.स्पून इलायची पाउडर।

अन्य सामग्री

2 टी.स्पून मैदा।

सजावट के लिए

2 टे. स्पून चांदी का वर्क लगे पिस्ता।

विधि :

रसगुल्लों के लिए

छेने को 16 बराबर भागों में बांट प्रत्येक को गोलाकार रूप दें। ध्यान रहे आकार देने में फटे नहीं। उल्टी थाली पर हल्का मैदा लगा उन पर इन्हें रखते जाएं।

चाशनी के लिए

चीनी और दूध को तीन कप पानी के साथ एक बड़े बर्तन में डाल चलाते हुए पकाएं। उबलने पर चीनी सतह पर आने लगेगी, इसे न चलाएं। पांच मिनट के बाद एक कप पानी बर्तन के किनारे से लगाते हुए डालें। मध्यम आंच पर दस मिनट तक पकाएं फिर हल्के हाथों से स्लेटी सतह को हटा दें। एक बार फिर इसे उबालें और एक कप पानी और डाल लें। फिर गंदगी हटा दें। अब आंच तेज कर एक या दो मिनट उबाल एक तरफ रख लें।

केसर दूध के लिए

एक चौड़े मुंह के बर्तन में दूध को उबालें। उबले दूध में चीनी, केसर, पिसी इलायची डालकर अच्छे तरह मिलाएं। आंच से उतारकर एक तरफ रख लें।

रसगुल्लों के लिए

2 टी.स्पून मैदा को तीन चौथाई पानी में मिलाकर घोल तैयार कर लें। तेज आंच पर गहरे बर्तन में चाशनी उबाल आने तक गर्म करें। जब उबलना शुरू हो जाए तो मैदा का आधा घोल उस पर डालें। फिर थाली पर रखे रसगुल्ले उसमें डाल दें। अब मैदा घोल डालने पर चाशनी की सतह पर एक सतह सी बन जाएगी। यदि सतह कमजोर लगे तो आधा भाग मैदा घोल और डाल दें। इसके बाद एक कप पानी चाशनी की सतह पर छिड़कते रहें। सुनिश्चित करें कि रसगुल्ला पकाते समय चाशनी पर परत जमी हो। रसगुल्ले पक गए हैं इसका पता लगाएं। फिर आंच से उतार लें। परोसने से पूर्व रसगुल्लों को एक बर्तन में पलट लें और ऊपर से दो चम्मच चाशनी व एक चम्मच पानी डालें। तीन से चार घंटे ठंडा होने दें।

रसगुल्लों को चाशनी से निकाल अतिरिक्त चाशनी निचोड़ दें। परोसने से पूर्व एक बर्तन में रखें और केसर दूध ऊपर से डालें। दो घंटे ठंडा होने दें फिर चांदी के वर्क में लिपटे पिस्ते से सजाकर परोसें।