कितने लोगों के लिए : 5

सामग्री :

सत्तू प्याज स्मूदी
1 टेबलस्पून प्याज (बारीक कटी), 1 टेबलस्पून धनिया पत्ती (बारीर कटी), आधा टीस्पून काला नमक (पिसा हुआ), 1 टीस्पून जीरा (भुना और पिसा हुआ), 3 कप ठंडा पानी, आधा नींबू, थोड़ी सी पुदीना पत्तियां (सजाने के लिए)

सत्तू शरबत

100 ग्राम चना सत्तू, 2 नींबू, 2 टेबलस्पून चीनी पाउडर, आधा टीस्पून काला नमक, 1 लीटर पानी


सत्तू परांठा

1 कप गेहूं का आटा, स्वादानुसार नमक, 1

विधि :

सत्तू से बनने वाली अलग-अलग डिशेज
सत्तू प्याज स्मूदी
ब्लेंडर में सारी सामग्री ब्लेंड करें। तैयार मिश्रण को अच्छी तरह शेक करने के बाद कांच के ग्लास में निकालें। पुदीना पत्तियों और कटे प्याज से सजाएं और सर्व करें।

सत्तू शरबत

एक बोल में सत्तू लें और उसमें थोड़ा पानी डालकर अच्छी तरह चलाएं। अब तैयार घोल में जरा सा और पानी, काला नमक, चीनी पाउडर और नींबू का रस मिलाकर अच्छी तरह चलाएं। फिर चिल्ड पानी मिलाएं और सर्व करें।

सत्तू परांठा

सबसे पहले परात में गेहूं का आटा गूंथे। फिर दूसरे बर्तन में भरावन की सारी सामग्री अच्छी तरह मिला लें। आटे की छोटी सी रोटी बेलें। रोटी पर थोड़ी सी भरावन रखें और लोई बना लें। लोई बनाते समय ध्यान रखें कि भरावन बाहर न निकलें। लोई को चकले पर बेलकर रोटी बना लें। गैस पर तवा रखें। जब तवा अच्छी तरह गरम हो जाए तो उस पर रोटी डालें। रोटी पर दोनों तरफ घी लगाएं और सुनहरा होने तक सेंकें। तैयार गर्मागर्म परांठे को पूरा या टुकड़ों में काट कर सर्व करें।

जलजीरा

एक बर्तन में सत्तू और जलजीरा पाउडर मिलाएं। इसमें ठंडा पानी डालें और तब तक चलाएं, जब तक कि सत्तू और जलजीरा पाउडर पानी में अच्छी तरह घुल न जाए। अब भुना जीरा, काली मिर्च और नींबू का रस मिलाएं। पुदीना पत्तियां और बूंदी डालकर सर्व करें।

सत्तू के फायदे
1. सत्तू पाचन क्रिया को ठीक रखता है।
2. यह पोषक तत्वों की जरूरत को पूरा करता है। इसमें प्रोटीन, फाइबर और आयरन की अच्छी मात्रा होती है।
3. इसकी ठंडी तासीर शरीर का तापमान नियंत्रित रखने में मदद करती है।
4. सत्तू का शरबत पीने से त्वचा चमकदार और हाइड्रेटेड रहती है।

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप