COMMERCE STREAM से भी बन सकते हैं जर्नलिस्ट

मैं किसी कारण रेगुलर पढ़ाई नहीं कर सका और 10वीं प्राइवेट से करना पड़ा। मैं जानना चाहता हूं कि रेगुलर और प्राइवेट का महत्?व एक समान है या नहीं?

आनंद सिंह

प्राइवेट डिग्री भी हर जगह रेगुलर के बराबर मान्य है, चाहे वह सरकारी संस्थान हो या निजी। अगर आप अपनी नॉलेज का लेवल हाई रखते हैं, तो इस बात को लेकर तनिक भी परेशान न हों। आप आगे नौकरी तलाशना चाहें या फिर पढ़ाई करना चाहें, दोनों ही दिशाओं में कदम बढ़ा सकते हैं।

मैं अपने करियर को लेकर काफी कनफ्यूज हूं। 2014 में सीएस से बीटेक करने के बाद मुझे एक अच्छे आर्गेनाइजेशन में नौकरी मिली, पर किसी कारण मुझे टर्मिनेट कर दिया गया। अब मैं अच्छी जॉब के लिए जीएटीइ-2015 की तैयारी कर रहा हूं। भविष्य में बेहतर ट्रैक रिकॉर्ड बनाए रखने के लिए मेरा मार्गदर्शन करें।

राहुल अग्रवाल, हरिद्वार

सबसे पहले तो आप इस बात के लिए आत्मावलोकन करें कि आखिर आपको किस कारण जॉब से हटना पड़ा? उस घटना से सबक लेते हुए आगे के लिए सीखें। इस बात को गांठ बांध लें कि खुद को मार्केट की रिक्वॉयरमेंट के मुताबिक ढालने के साथ-साथ वर्क-प्लेस पर एटिकेट, डिसिप्लिन, बॉस से बॉन्डिंग, टीम वर्क, डेडिकेशन, डेडलाइन जैसी बातों का भी खास ध्यान रखना होता है, तभी आप करियर में बिना किसी बाधा के लगातार आगे बढ़ सकते हैं। खुद को विनम्र और डिप्लोमेटिक बनाएं और नई बातों को सीखने या नई चुनौतियों को आगे बढ़कर स्वीकार करने व निभाने के लिए तत्पर रहें।

12वीं का एग्जाम मैं पहली बार में पास नहीं कर सका था। दूसरी बार थर्ड डिवीजन से पास हुआ। इस समय मैं इग्नू के जरिए पॉलिटिकल साइंस से बीए कर रहा हूं। मैं जानना चाहता हूं कि क्या मेरा 12वीं का रिजल्ट फ्यूचर में मेरे लिए प्रॉब्लम पैदा करेगा?

राहुल

सरकारी नौकरियों के लिए होने वाले ज्यादातर कॉम्पिटिटिव एग्जामिनेशंस में मिनिमम क्वालिफिकेशन की अनिवार्यता देखी जाती है, न कि माक्र्स की। आप सिर्फ वहीं अप्लाई नहीं कर सकते, जहां कहीं न्यूनतम माक्र्स की शर्त होती है। इनमें ज्यादातर एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स होते हैं। रेलवे, पीएसबी, यूपीएससी, एसएससी आदि में आमतौर पर कोई रुकावट नहीं आती है। इसलिए आप बेहिचक अपनी पसंदीदा नौकरी के लिए कदम आगे बढ़ा सकते हैं।

मैं 10वीं क्लास में पढ़ रही हूं और जर्नलिस्ट बनना चाहती हूं, पर मैंने ह्यूमनिटीज नहीं ली है। मैंने कॉमर्स लिया है और उसी के जरिए जर्नलिस्ट बनना चाहती हूं। इसके अलावा, मैं नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन के फस्र्ट लेवल की तैयारी के बारे में भी जानना चाहती हूं।

इशिता शर्मा

एक कामयाब जर्नलिस्ट बनने के लिए विषय से ज्यादा महत्वपूर्ण आपके भीतर विजनरी और एनालिटकल अप्रोच की ग्रूमिंग है। इसे आप न्यूज चैनल्स और न्यूजपेपर्स की रेगुलर और डीप स्टडी करके डेवलप कर सकती हैं। आप कॉमर्स से पढ़ाई करके भी जर्नलिज्म फील्ड में एंट्री कर सकती हैं। चूंकि देश और दुनिया में सर्वाधिक महत्वपूर्ण इकोनॉमी होती है, इसलिए न्यूज चैनल्स और न्यूजपेपर्स में भी कॉमर्स और इकोनॉमी के जानकारों की काफी डिमांड होती है। आप खुद को कॉमर्स करेस्पॉन्डेंट्स के रूप में भी डेवलप कर सकती हैं। एनटीएसइ के लिए आप न्यूज पेपर्स रेगुलर पढ़ें और नोट्स भी बनाएं।

मैं अभी 11वीं क्लास में पीसीएम से पढ़ रहा हूं। जेइइ मेन एग्जाम क्वालिफाई करना चाहता हूं। प्लीज बताएं कि मुझे इसके लिए क्या करना चाहिए?

बिट्टू

अगर आप पहले ही प्रयास में जेइइ मेन क्वालिफाई कर लेना चाहते हंै, तो इसके लिए आपको 11वीं-12वीं के पीसीएम सिलेबस पर कंप्लीट कमांड हासिल करनी होगी। चूंकि अभी आपके पास काफी समय है, इसलिए अपनी कमजोरियों का पता लगाकर उन्हें दूर करने का पूरा प्रयास करें। जेइइ मेन के लास्ट इयर्स के क्वैश्चन पेपर्स से प्रश्नों के पैटर्न को समझें और उसके अनुसार अभी से क्वैश्चंस को ज्यादा से ज्यादा सॉल्व करने की कोशिश करें। जहां परेशानी हो रही हो, वहां टीचर्स और सीनियर्स की मदद लें।

मैं इग्नू में बीकॉम फस्र्ट इयर का स्टूडेंट हूं। घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। आइएएस बनना चाहता हूं। क्या मेरे लिए ऐसा करना संभव है? मैं पटना में रहता हूं। मुझे किसी पार्ट टाइम जॉब के बारे में भी बताएं, जिससे कि आर्थिक स्थिति सुधारने में में मदद हो सके।

एक पाठक

आइएएस बनना कोई मुश्किल नहीं, बशर्ते कि आप सही दिशा में कड़ी मेहनत करने का जज्बा रखते हों। इसके लिए आपको अभी से एनसीइआरटी की किताबों और समाचार पत्रों की मदद से तैयारी करने के साथ अपने विजन को डेवलप करना चाहिए। जहां तक आर्थिक स्थिति सुधारने की दिशा में कोशिश करने की बात है, तो आप अपनी नॉलेज के आधार पर किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट में अपना कंट्रीब्यूशन दे सकते हैं। इससे दो फायदे होंगे, एक तो इसके एवज में आपको अच्छे पैसे मिल सकते हैं और दूसरे इससे आपको अपनी तैयारी का रिवीजन करने में मदद भी मिलेगी। परेशान होने की बजाय अपना आत्मविश्वास बनाए रखें और आगे बढऩे के रास्ते तलाशते रहें।

करियर से संबंधित सवाल

counselor@nda.jagran.com पर ईमेल करके पूछ सकते हैं...

अरुण श्रीवास्तव

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस