MATH X SCIENCE

में बना सकते हैं पहचान

मैं नौवीं क्लास का स्टूडेंट हूं। आइआइटी में एडमिशन के लिए जेइइ क्वालिफाई करना चाहता हूं। प्लीज बताएं कि मैं किस तरह से तैयारी करूं?

कार्तिकेय मिश्रा

अगर आप आइआइटी में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सीबीएसई द्वारा आयोजित जेइइ मेन और फिर आइआइटी द्वारा आयोजित एडवांस क्वालिफाई करना होगा। इस एंट्रेंस में आप 12वीं के आधार पर अपीयर हो सकते हैं। जहां तक इसे क्वालिफाई करने की बात है, तो आप सबसे पहले नौवीं से बारहवीं तक के पीसीएम के बेसिक फंडामेंटल्स पर अपना कॉन्सेप्ट क्लियर करें। फार्मूलों के एप्लीकेशंस पर ध्यान दें। तीनों सब्जेक्ट्स पर मजबूत पकड़ बनाने के बाद आप जेइइ के पिछले कुछ वर्षो के प्रश्नपत्रों को सॉल्व करने की प्रैक्टिस करें। कुछ समय के बाद आप निर्धारित समय सीमा के भीतर मॉक पेपर सॉल्व करें। तीनों सब्जेक्ट्स की खुद से अच्छी तैयारी कर सकते हैं, तो बेहतर है अन्यथा प्रॉपर गाइडेंस के लिए किसी प्रामाणिक कोचिंग की भी मदद ले सकते हैं।

मेरा एडमिशन बीएससी में अच्छे कॉलेज में नहीं हो पा रहा है। मैंने 2013 में इंटर किया था। उसके बाद एक साल आइआइटी की कोचिंग की। मुझे क्या करना चाहिए? मेरा मन एक साल और एनआइटी की तैयारी करने का है, पर साथ में बीएससी या बीसीए करना चाहता हूं क्योंकि 2 साल का गैप होने पर वजह बतानी होगी।

अमित कुमार कुशवाहा

अगर आप अपनी तैयारी को लेकर पूरी तरह कॉन्फिडेंट हैं और लगता है कि अगली बार एनआइटी या जेइइ एंट्रेंस क्लियर कर लेंगे, तब तो जरूर एक साल ड्रॉप करके सारा समय तैयारी को समर्पित कर सकते हैं। हां, अपनी तैयारी को लेकर जरा सा भी संदेह है, तो फिर अपनी रुचि के अनुसार बीएससी या बीसीए करने में देर नहीं करनी चाहिए। जो भी करें, उसमें अपना हंड्रेड परसेंट दें तभी रिजल्ट आपके अनुकूल आएगा। मन की दुविधा को दूर करें। अपनी कमजोरियों को तलाशें और उन्हें दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ दूर करने का प्रयास करें। सटीक योजना और पूरी मेहनत के साथ प्रयास करेंगे, तो मनपसंद क्षेत्र में कामयाबी अवश्य मिलेगी।

मैं 12वीं पीसीएम से कर रहा हूं। मैथ और साइंस के सवाल हर करने में परेशानी होती है। कुछ याद नहीं रख पाता। उपाय बताएं।

चंदन कुमार

सबसे पहले तो आप इस बात पर विचार करें कि मैथ और साइंस में आपको परेशानी क्यों होती है? मुझे लगता है कि शायद ये दोनों सब्जेक्ट आपकी रुचि के नहीं हैं, इसी कारण आपका मन इनमें नहीं लगता। हो सकता है कि आपने पैरेंट्स के प्रेशर या फिर दोस्तों की देखा-देखी आपने इन्हें ले लिया हो। इसके बावजूद अगर आप इन सब्जेक्ट्स में खुद को मजबूत करना चाहते हैं, तो आपको खुद को एकाग्र करते हुए कड़ी मेहनत करनी होगी। हो सकता है कि इसमें थोड़ा समय लगे, लेकिन अगर आप ईमानदारी और अच्छी नीयत के साथ नियमित रूप से प्रयास करेंगे, तो इसका सकारात्मक परिणाम जल्द ही आपको दिखने लगेगा। इससे आपका कॉन्फिडेंस तो बढ़ेगा ही, आपकी अलग पहचान भी बनेगी। आपके लिए ब्राइट करियर की राह भी आसान हो जाएगी।

मैंने इसी साल पीसीबी ग्रुप से 75.4 परसेंट मा‌र्क्स के साथ 12वीं कंपलीट किया है। आइएएस ऑफिसर बनना चाहती हूं। प्लीज इसके बारे में बताएं। ग्रेजुएशन के लिए मैं बॉयोटेक से बीटेक करना चाहती हूं। मार्गदर्शन करें।

आकांक्षा चौधरी

आइएएस सिविल सर्विसेज एग्जाम के जरिए चुने जाते हैं, जिसे हर साल संघ लोक सेवा आयोग आर्गेनाइज करता है। इस एग्जाम में तीन चरण होते हैं - प्रिलिमिनरी, मेन्स और इंटरव्यू। प्रिलिम्स में ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वैश्चंस पर आधारित दो कंपल्सरी पेपर होते हैं-एक जनरल स्टडीज का और दूसरा सीसैट यानी सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट का। इसे क्वालिफाई करने वाले कैंडिडेट्स को मेन्स में अपीयर होने का मौका मिलता है। इसमें जनरल इंग्लिश और इंडियन लैंग्वेज के क्वालिफाइंग पेपर सहित जीएस के चार और निबंध का एक कंपल्सरी पेपर होता है। इसके अलावा, कैंडिडेट द्वारा चुने गए एक ऑप्शनल सब्जेक्ट के दो पेपर भी होते हैं। मुख्य परीक्षा क्वालिफाई करने वाले कैंडिडेट्स को इंटरव्यू के लिए कॉल किया जाता है। मेन्स और इंटरव्यू में प्राप्त मा‌र्क्स की मेरिट के आधार पर सलेक्टेड कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी की जाती है। इस एग्जाम में अपीयर होने के लिए पहले आपको ग्रेजुएशन क्लियर करना होगा। हां, ग्रेजुएशन के साथ-साथ आप सिविल सर्विसेज की तैयारी भी कर सकती हैं। प्रिलिम्स और मेन्स के सिलेबस में काफी बदलाव आ चुका है। अच्छी तैयारी के लिए आप एनसीईआरटी की नौवीं से 12वीं तक की बुक्स पढ़ें और नोट्स बनाएं। इसके अलावा, रेगुलर नेशनल लेवल के न्यूजपेपर पढ़ें। देश और दुनिया के डिफरेंट इश्यूज पर जानकारी हासिल करके उन पर अपनी राय भी बनाएं। लास्ट इयर्स के क्वैश्चन पेपर्स से पैटर्न समझ सकती हैं। स्टडी के साथ-साथ मॉक पेपर्स को सॉल्व करने की रेगुलर प्रैक्टिस भी करें।

-करियर से संबंधित सवाल

counselor@nda.jagran.com पर ईमेल करके पूछ सकते हैं..

अरुण श्रीवास्तव

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस