चाईबासा, जेएनएन। वह एक महिला की हडि़या दुकान पर हडि़या पीने जाता था। कुछ दिनों बाद बीमार पड़ा तो शक हुआ कि महिला हडि़या में कुछ केमिकल मिलाती है जिसकी वजह से ही वह बीमार पड़ा है। उसके बाद वह हैवान बन गया और महिला की पीटकर जान ले ली। यह किया एक किशोर ने।

घटना हुई पश्चिमी सिंहभूम के जराईकेला इलाके में। हत्या को अंजाम देने के बाद युवक ने अपने पिता को जानकारी दी और तीन लोगों ने मिलकर शव को ठिकाने लगा दिया। महिला के गायब होने की सूचना पर पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो भेद खुल गया। शव बरामद करने के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

महिला के भाई ने की थी गायब होने की शिकायत

जानकारी देते आरक्षी अधीक्षक इंद्रजीत महथा।

पश्चिमी सिंहभूम के आरक्षी अधीक्षक ने बताया कि ओडिशा के सुंदरगढ़ जिला के केवलांग थाना इलाके के सन बालजोड़ी गांव के सिमोन मुंडा ने 30 जुलाई को अपनी चचेरी बहन 60 वर्षीय मुनिका मुंडा के 23 जुलाई से गायब रहने की शिकायत दर्ज कराई थी। उसने काशीगढ़ा के किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या कर शव गायब करने का शक जताया था। शिकायत के बाद मनोहरपुर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विमलेश कुमार त्रिपाठी के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम ने पड़ताल की तो शिकायतकर्ता का शक सच साबित हुआ। हत्या करनेवाले एक किशोर के साथ शव छिपाने में मदद करनेवाले मंगरा नाग और इसरायल लुगुन को गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी निशानदेही पर मुनिका मुंडा का क्षत-विक्षत शव बरामद किया गया। मंगरा नाग जराईकेला थाना इलाके के काशीगड़ा जबकि इसरायल लुगुन इसी थाना क्षेत्र के पांडुजोड़ा का रहनेवाला है। 

टीम में ये रहे शामिल

टीम में मनोहरपुर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विमलेश कुमार त्रिपाठी, आंनदपुर के थाना प्रभारी खुशी आलम, जराईकेला के थाना प्रभारी संजय कुमार राय के साथ सशस्त्र बल के जवान शामिल थे। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस