संवाद सूत्र, मनोहरपुर : झारखंड- ओडिशा सीमा क्षेत्र के कोप¨सघा गांव में बीती रात जंगली हाथियों ने एक अधेड़ महिला को घर से खींच पटक-पटक कर मार डाला। वही गांव के रूपम पटेल का केला बागान को रौंद डाला। जिससे रूपम को लगभग 50 हजार रुपये की क्षति हुई। जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात लगभग पाचं की संख्या में जंगली हाथी कोप¨सघा गांव के कोपिस टोला में हमला बोल दिया। रात्रि लगभग 12 बजे पदमा मुंडा के घर पर धावा बोल दिया। उसके घर को तोड़ घर में सो रही 50 वर्षीय पदमा मुंडा को खींच कर घर से बाहर लाया और पटक-पटक कर जान ले ली। सूचना मिलने पर बुधवार की सुबह पंचायत प्रतिनिधि और विश्रा वन विभाग के पदाधिकारी घटनास्थल पहुंचे। मृतक के आश्रित को पंचायत की ओर से 2 हजार रुपये और वन विभाग द्वारा तत्काल मुआवजा के तौर पर अग्रिम 15 हजार रुपये दिए। मौके पर वन विभाग वालों ने बताया कि दो माह के अंदर मृतक के आश्रित को 4 लाख रुपये मुआवजा के रूप में वन विभाग द्वारा भुगतान किया जाएगा। मृतक के परिजन को मुआवजा के तौर पर राशि भुगतान के वक्त बिश्रा थाना के एएसआइ प्रदीप कुमार सेठी, जराईकेला ओपी प्रभारी प्रदीप कुमार साहु, फोरेस्टर बिस्त्रा प्रधान बाबू, पंचायत समिति सदस्य पुष्पंजलि भूमिज आदि मौके पर मौजूद थे। ज्ञात हो कि एक दिन पूर्व ही झारखंड-ओडिशा सीमा से सटे झारखंड के धानापाली गांव में जंगली हाथियों का समूह ने एक अधेड़ व्यक्ति को कुचल कर मार डाला था। वही एक युवक को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था, जिसका कटक में इलाज चल रहा है। सीमा क्षेत्र में कुछ दिनों से जारी जंगली हाथियों के तांडव से ग्रामीण भयभीत हैं। रात जागकर व पहरेदारी कर बिता रहे हैं। जंगली हाथियों के कहर से निजात दिलाने को ग्रामीणों ने वन विभाग से गुहार लगाई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस