संवाद सूत्र, मनोहरपुर : मनोहरपुर प्रखंड के कोयना प्रक्षेत्र मनोहरपुर संख्या 48 व सामठा प्रक्षेत्र जराईकेला संख्या 63 के बॉर्डर पर अज्ञात लोग वन की कटाई कर घर बसाने की तैयारी कर रहे थे। वन विभाग व ग्रामीणों को सूचना मिलने के बाद बुधवार को सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुषों के साथ वन विभाग के वरीय अधिकारी व मनोहरपुर पुलिस प्रशासन के साथ जंगल पहुंचे। वहीं जंगल के चप्पे-चप्पे में खोजबीन की गई। यहां लगभग पांच एकड़ वन को काटकर साफ कर दिया गया है।

जंगल में बने थे चूल्हे

जंगल काटने आये लोगों ने वहां आसपास में लगभग दर्जन भर चूल्हे बना रखे थे। जिसमें यह खाना बनाने से लेकर अन्य काम भी करते थे। चूल्हे के समीप हल्दी पाउडर, प्याज के छिलके, भात का मांड पसरा हुआ था। इससे यही प्रतीत होता है कि लगभग 150 की संख्या में लोग जंगल की कटाई में लगे थे।

जिओ सिम कार्ड का मिला डब्बा

जंगल में जिओ सिम कार्ड का डिब्बा मिला। ग्रामीणों ने बताया कि डिब्बे में कुछ भी नहीं था। वहीं डिब्बा के अंदर के कागज को टुकड़े-टुकड़े कर फेक दिया गया था। जंगल क्षेत्र के जेराईकेला के समीप होने के चलते जिओ के सिम से बातचीत होती है। जंगल कटाई करने आए लोग उस सिम का प्रयोग करते रहे होंगे। ग्रामीणों ने दिखाई एकजुटता

प्रखंड के बांधटोली, गिडुंग, मीनाबाजार, लक्ष्मीपुर, पत्थरबासा और मेदासाई के सैकड़ों महिला और पुरुष पारंपरिक हथियार के साथ जंगल में पहुंचे। ग्रामीणों ने सबसे पहले बांधटोली में बैठक की। जिसमें मनोहरपुर पुलिस के अधिकारी भी थे। साथ ही वन विभाग के अधिकारियों ने भी बैठक में भाग लिया और निर्णय लिया कि जंगल हमारी संपत्ति है। इसे हम लोगों को मिलकर बचाना है। बैठक के बाद सभी सासंगदाह जंगल पहुंचे। कई ग्रामीण पैदल चलकर भी पहुंचे थे। वहीं ग्रामीणों व प्रशासन के लोगों ने जंगल के चप्पे चप्पे में खोजबीन की, लेकिन कोई बाहरी लोग नहीं मिले। सिर्फ पेड़-पौधों की कटाई ही नजर आई।

खून से सना डंडा मिला

जिस जगह में वन की कटाई की गई थी, वहां दर्जनों चूल्हे थे, उसी जगह एक डंडा मिला। डंडा खून से सना था। यह किसका खून था, जांच होने से पता चलेगा। मौके पर पहुंचने वालों में वन विभाग के आइएफएस अंकित कुमार सिंह, सामठा प्रक्षेत्र जराईकेला के रेंजर सुधीर कुमार, गुवा प्रक्षेत्र गुवा के रेंजर कमलेश्वर सिन्हा समेत मनोहरपुर थाना प्रभारी प्रदीप मिज, एएसआइ बीडी सिंह सह दलबल के सैकड़ो की संख्या में वनरक्षी मौजूद थे।

------------

गुप्त सूचना मिली थी कि सासंगदाह वन क्षेत्र में बाहरी लोग बसने के लिए जंगल की कटाई कर रहे हैं। इस संबंध में एसपी सर से बात कर मनोहरपुर पुलिस बल, वनरक्षी और ग्रामीणों के साथ घटनास्थल पहुंचे। लगभग पांच एकड़ में पेड़-पौधे की कटाई की गई है। वन क्षेत्र में बाहरी लोगों को बसने नहीं दिया जाएगा। उनपर सख्त कारवाई की जाएगी।

- अंकित कुमार सिंह, आइएफएस।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस