संवाद सूत्र, मनोहरपुर : स्नातक प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा से वंचित संत अगस्तीन कॉलेज के भूगोल विषय के 46 छात्रों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मंगलवार को कॉलेज प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए छात्रों ने कॉलेज से मनोहरपुर प्रखंड कार्यालय तक रैली निकाली। बीडीओ जितेंद्र पांडेय के समक्ष न्याय की गुहार लगाई। छात्रों का भविष्य खराब न हो इसे लेकर मार्गदर्शन की मांग की। साथ ही कॉलेज प्रबंधन के प्रति कार्रवाई की की मांग की। छात्रों की पीड़ा सुनने के बाद बीडीओ जितेंद्र पांडये ने कॉलेज के प्राचार्य नेहरू लाल महतो को कार्यालय बुला पूरे मामले की गहनता की जानकारी ली। फिर मामले में उचित रास्ता को लेकर बीडीओ ने छात्रों को दिशा-निर्देश दिया। मामले में उपायुक्त से मिलने की सलाह दी।

छात्रों को दिलाया जाता रहा भरोसा

ज्ञात हो कि संत अगस्तीन महा विद्यालय में भूगोल विषय का संबंधन नहीं होने के बाबजूद कॉलेज द्वारा स्नातक भूगोल बिषय के 46 छात्रों का नामांकन लेने नामांकन फीस,निबंधन फीस,वार्षिक फीस सहित सभी तरह के फीस वसूली के बाबजूद छात्रों का निबंधन नही कराए जाने से वर्ष 2017-20 के प्रथम समेस्टर की परीक्षा से छात्र वंचित रह गए। छात्रों का एक साल बर्बाद हो गया। उनका शैक्षणिक भविष्य पे गहरा संकट मंडरा रहा है। महाविद्यालय में भूगोल विषय का संबंधन नहीं होने के बाबजूद छात्रों का भूगोल प्रतिष्ठा में नामांकन लिया गया। छात्रों को महाविद्यालय से आश्वासन पर आश्वासन मिलता रहा समय खत्म हो गया, परन्तु छात्रों का निबंधन नही हो पाया और ना ही छात्र प्रथम सेमेस्टर की 22 मार्च से चल रही परीक्षा से छात्रों को वंचित रहना पड़ा। जानकारी के अनुसार छात्रों को कॉलेज में नामांकन के समय से लेकर अब तक कॉलेज प्रबंधन से उनके निबंधन व परीक्षा दिलाने का आश्वासन ही मिलता रहा। चंद दिनों पहले जब प्राचार्य नेहरू महतो अपने छात्रों को शैक्षणिक टूर पर हरिद्वार ले जा रहे थे। तब भी मनोहरपुर रेलवे स्टेशन पर उन्होंने छात्रों को भरोसा दिलाते हुए कहा था कि आपलोगों की परीक्षा 28 मार्च को है। वह होगी।

इधर जानकारी संत अगस्तीन महाविद्यालय में सत्र 2017-20 के भूगोल विषय मे अध्ययनरत 46 छात्रों का इस वर्ष कोल्हान यूनिवर्सिटी ने निबंधन का आवेदन रद कर दिया। जिस कारण 46 छात्रों का निबंधन नहीं हुआ। इस वर्ष 22 मार्च से शुरू हुई पहले सेमेस्टर की परीक्षा से वंचित होना पड़ा। इस मामले में यूनिवर्सिटी ने महाविद्यालय को निबंधन हेतु भूगोल विषय पर स्थायी संबंधन प्राप्त करने को कहा है। स्थायी संबंधन मिलने के बाद ही यूनिवर्सिटी ने छात्रों का निबंधन करने की बात कही गई थी। जबकि कॉलेज को भूगोल विषय के छात्रों का निबंधन नहीं होने व परीक्षा से वंचित रह जाने से छात्रो में कॉलेज व यूनिवर्सिटी के खिलाफ रोष है। वे आंदोलन के राह पर निकल गए है। छात्र अपनी समस्या व मांग को लेकर डीसी, एसपी, कुलपति के अलावे उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों व सचिव से मिलने की बात कर रहे हैं।

चार लोगों के खिलाफ थाने में की गई है शिकायत

परीक्षा से वंचित होने के बाद छात्र न्याय को लेकर 30 मार्च को ही पुलिस प्रशासन के पास भी गए थे। संत अगस्तीन कॉलेज के बीए पॉर्ट - 1 के भूगोल ( प्रतिष्ठा ) के 46 छात्र अब न्याय की आस कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई को लेकर मनोहरपुर पुलिस के समक्ष कॉलेज प्रबंधन के 4 लोगों के खिलाफ लिखित रूप से शिकायत करते हुए इनके विरुद्ध केस दर्ज करने की मांग की है। जिसमे इनमें कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य नेहरूलाल महतो, कॉलेज प्रबंधन के सचिव जयंत अग्रवाल, अध्यक्ष सह छोटानागपुर डायोसिस के विशप बी बी बास्के तथा कॉलेज के परीक्षा क्लर्क विलोकन कच्छप हैं। इसे लेकर छात्रों ने मनोहरपुर थाना में 46 छात्रों के संयुक्त हस्ताक्षरयुक्त पत्र दिया है। पत्र में छात्रों ने कहा है कि उन्हें कॉलेज के द्वारा धोखा देकर एवं बरगलाकर भूगोल विषय में नामांकन कराया गया। साथ ही कॉलेज की ओर से छात्रों से पंजीयन शुल्क एवं परीक्षा शुल्क भी लिया गया।

कोट

प्रथमद्रष्टया में कॉलेज प्रशासन दोषी दिख रहा है। अपने स्तर से इस मामले में वरीय पदाधिकारी को रिपोर्ट भेज देंगे। कोल्हान यूनिवर्सिटी से भी अनुरोध करेंगें की 46 छात्रों के लिए कोई रास्ता हो तो निकालें ताकि छात्रों का एक साल बर्बाद न हो।

- जितेंद्र पांडेय, बीडीओ, मनोहरपुर।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस