चाईबासा (जागरण संवाददाता)। चक्रधरपुर पुलिस ने व्यवसायी से रंगदारी मांगने के एक मामले में बंदगांव से पीएलएफआइ के चार सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेजा है।

इनमें राणा चांपिया, कमलेश मुंडु, मोरा हपदगड़ा उर्फ मोहन और कुंदन मुंडु शामिल हैं। पुलिस ने इनके पास से रंगदारी के लिए इस्तेमाल किया गया मोबाइल और लेवी मांगने वाला पर्चा भी बरामद किया है। शुक्रवार की देर शाम यहां पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा ने चारों पीएलएफआइ सदस्यों की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि चारों आरोपित पीएलएफआइ सरगना शनिचर सुरीन, मंगरा लुगुन और अजय पुरती के लिए लेवी मांगने और सामान पहुंचाने का काम करते हैं।

इन लोगों ने इसकी स्वीकारोक्ति अपने बयान में की है। 18 नंवबर को चारों आरोपितों ने जिले के एक मध्यमवर्गीय व्यवसायी से 5 लाख रुपये की लेवी मांगी थी। व्यवसायी ने पुलिस पर भरोसा जताया और मुझे फोन पर जानकारी दी। इसके बाद रंगदारी का मामला बंदगांव थाना में दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया। राणा और कमलेश गुदड़ी के रहने वाले हैं। मोरा और कुंदन बंदगांव के रहने वाले हैं। वर्तमान में चारों बंदगांव बाजार के कालीदास मुंडु के मकान में किराये पर रह रहे थे।

एसडीपीओ नाथु सिंह मीणा और बंदगांव थाना प्रभारी ने मिलकर मामले में अनुसंधान शुरू किया और चारों को गुरुवार की देर शाम कालीदास मुंडु के मकान से ही गिरफ्तार किया गया। रंगदारी के लिए फोन कुंदन ने किया था। इनकी गिरफ्तारी के बाद अब गिरोह के सरगना को पकड़ने के लिए पुलिस लगी हुई है। चारों आरोपितों को 17 सीएल एक्ट और रंगदारी के मामले में जेल भेज दिया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021