जासं, चाईबासा : लायंस क्लब चाईबासा की महिला शाखा 'लावण्या' की ओर से स्थानीय रूंगटा मैरेज हॉल में बच्चों में कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में मुख्य अतिथि के रूप में पश्चिम सिंहभूम जिला के उपायुक्त अनन्य मित्तल की धर्मपत्नी डा. ख्याति शुक्ला मित्तल उपस्थित थीं। सेमिनार में सदर अस्पताल के डा. अजय कुमार ने बच्चों को रक्त कैंसर, हड्डियों का कैंसर और ब्रेन ट्यूमर के मुख्य लक्षणों से अवगत कराया। सेमिनार में डा. अजय ने बताया कि बच्चों में ब्लड कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। हालांकि बच्चों में इस बीमारी के लक्षण पहचानना थोड़ा मुश्किल है। आमतौर पर कैंसर जब किसी अंग में आधे से ज्यादा फैल चुका होता है, तब व्यक्ति को इसका पता चलता है। इससे बचाव के लिए दिनचर्या बेहतर करने की जरूरत है। डा. अजय ने कहा कि यदि मल या मूत्र के साथ बार-बार खून आए, खाना निगलने में रुकावट महसूस हो, अपच व भूख की लगातार कमी होती जाए और आप अत्यधिक मोटापे का भी शिकार हों तो आप तुरंत विशेषज्ञ से अपनी जांच कराएं, क्योंकि यह कैंसर के लक्षण हो सकते हैं। इसी तरह जब कैंसर की कोशिकाएं हड्डियों के अंदर फैल जाती हैं, तो उसे हड्डियों (बोन्स) का कैंसर कहते हैं। बोन कैंसर किसी भी हड्डी के अंदर हो सकता है, लेकिन बोन कैंसर हाथों और पैरों की हड्डियों में ज्यादा होता है। कैंसर होने पर हड्डियां बहुत कमजोर हो जाती हैं और जरा-सा आघात लगने पर इनके बार-बार फ्रैक्चर होने का जोखिम बढ़ जाता है। अगर शुरुआती दौर में कैंसर के बारे में पता चल जाए तो मरीज को बचाया भी जा सकता है। कार्यक्रम में मंच का संचालन ज्योति रुंगटा ने किया। बच्चों एवं उनके साथ आए अभिभावकों को फूड पैकेट क्लब की सचिव श्वेता प्रकाश, नम्रता प्रकाश व पूनम रंजन ने प्रदान किया। क्लब की अन्य सदस्यों ने भी सेमिनार में भाग लेकर इसे सफल बनाया। मौके पर लावण्या क्लब की प्रेस प्रवक्ता रुचि चौबे, लावण्या क्लब की अध्यक्ष शालिनी सर्राफ व कोषाध्यक्ष पिकी अग्रवाल समेत अन्य सदस्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran