संवाद सूत्र, बंदगांव : झारखंड राज्य के मनरेगा आयुक्त सिद्धार्थ त्रिपाठी के निर्देश पर बंदगांव प्रखंड के नकटी पंचायत के इंदुरूआं एवं कंकूआ गांव में मनरेगा योजना के तहत चल रहे योजनाओं का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान ग्रामीणों ने कहा कि काम की मांग करने पर भी जल्द काम नहीं उपलब्ध कराया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान जांच अधिकारी ने कंकुआ गांव में ग्रामीणों के साथ एक बैठक भी की। बैठक में मनरेगा योजना का लाभ उठाने की बात अधिकारियों ने की। मनरेगा के डीआरपी रोमा बारला ने कहा कि शिकायत मिल रही थी कि मजदूरी दर 194 रुपये होने के कारण मजदूर काम करना नहीं चाह रहे थे, लेकिन क्षेत्र में निरीक्षण के दौरान यह देखने को मिला कि मजदूर 194 रुपये की मजदूरी में काम करना चाह रहे हैं, पर उन्हें काम ही नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों को मनरेगा योजना के तहत काम उपलब्ध कराया जाएगा। निरीक्षण के दौरान मनरेगा सिविल सोसाइटी बलराम कुमार, मनरेगा वीआरपी नरेश मंडल, वीआरपी वेनी देवी, ग्रामीण रिसोर्स पर्सन रेवती प्रधान पंचायत सेवक जीवन सिंह कुंटिया समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस