जागरण संवाददाता, चाईबासा : केंद्रीय इस्पात एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सोमवार गुवा पहुंचे। गुवा पहुंचने से पूर्व उन्होंने हाथी चौक में वन विभाग द्वारा मनाये जा रहे विश्व एलिफेंट डे का उद्घाटन किया। इसके बाद प्रधान गुवा डाक बंगला पहुंचे जहां सीआईएसएफ के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद प्रधान खदान क्षेत्र पहुंचे और गुवा को देश की नंबर एक खदान बनवाने में आ रही दिक्कतों को सुना। महाप्रबंधक अनिरुद्ध शर्मा को उन्होंने 31 अगस्त तक का समय दिया और कहा कि गुवा को 10 मिलियन टन उत्पादन करना है, इसकी विस्तृत रिपोर्ट बनाये और मुझे दें ताकि गुवा नंबर-1 खदान बन सके। इसके लिए उन्होंने पूरा एक टास्क सेल के अधिकारियों को दिया और कहा कि आप एक अप्रैल 2020 तक का लक्ष्य ले कर चलें और विस्तृत योजना बनाएं। इसमें उन्होंने सेल, राज्य सरकार और केंद्र सरकार से पूरी मदद दिलाने का वादा किया। महाप्रबंधक अनिरुद्ध शर्मा को विशेष टास्क देते हुए उन्होंने कहा कि आप 31 अगस्त तक पूरी तैयारी कीजिये और 31 अगस्त के बाद अपनी टीम के साथ मिलिए और अपनी

परेशानी बताएं जिसका मैं निराकरण करूंगा। अभी सेल की उत्पादन क्षमता 4 मिलियन टन प्रति वर्ष है। इस्पात मंत्री ने पिलेट प्लांट के बारे में भी पूरी जानकारी ली और उसके उत्पादन एवं बिक्री के बारे में जाना।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस