संवाद सूत्र, जगन्नाथपुर : प्रखंड संसाधन केंद्र सभागार में गुरुवार को प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी इंद्रदेव कुमार की अध्यक्षता में शिक्षकों की बैठक का आयोजन किया गया। इसमें सरकार व दैनिक जागरण के साथ चल रहे जल संरक्षण व कितना-कितना पानी अभियान की सफलता को लेकर चर्चा की गई। मौके पर प्रोजेक्टर के माध्यम से जागरण द्वारा तैयार जल संरक्षण से संबंधित बीडीओ व पीपीटी प्रेजेंटेशन दिखाया गया। मौके पर सभी शिक्षकों को जानकारी दी गई कि कितना-कितना पानी अभियान को सफल बनाने के लिए बनाए गए जागरण जल सेना कि भूमिका कितनी महत्वपूर्ण है। बताया गांव कि विद्यालय में चापाकल व किचन से होने वाले बर्बाद पानी को सोख्ता गड्ढा का निमार्ण कर बचाया जा सकता है। ताकि वही पानी धरती मे रिचार्ज होकर हमें दोबारा मिल सके। बैठक में बारिश के पानी को संरक्षित करने की जानकारी दी गई। बताया गया कि तालाब पोखरों में बारिश के पानी का समावेश कर पानी का ठहराव किया जा सकता है। इसके अलावे पौधारोपण कर भी पर्यावरण व जल संरक्षण के अभियान को सफल बनाए जाने की जानकारी दी गई। प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया गया कि भारत के साथ-साथ झारखंड के जल स्तर की स्थिति कितनी भयावह है और यही आलम रहा तो आने वाले समय में लोग बूंद-बूंद पानी को तरस जाएंगे। इस कार्यक्रम में लगभग 112 विद्यालयों के एचएम, सहायक शिक्षक, बीपीओ, बीआरसी, सीआरपी, सीआरसी शामिल हुए। मौके पर सभी शिक्षकों ने जल संरक्षण व पर्यावरण संरक्षण के अभियान को सफल बनाने के लिए व पानी की बर्बादी को रोकने का संकल्प लिया।

------------------

पानी की बूंद-बूंद बचाएंगे जागरण जल सैनिक : बीईईओ

इस अवसर पर बीईईओ इंद्रदेव कुमार ने कहा कि सरकार व दैनिक जागरण द्वारा चलाया जा रहा जल संचय अभियान व जागरण जल सेना गठन का उद्देश्य सभी को मिलकर पूरा करना है। राज्य के मुख्य सचिव इस अभियान को लेकर काफी गंभीर हैं। जिस तरह सैनिक बॉर्डर पर जनमानस व देश की रक्षा करते हैं उसी तरह विद्यालय में गठित जागरण जल सेना व सभी बच्चे पानी की बूंद-बूंद बचाएंगे। इसके लिए शिक्षक अपने- अपने विद्यालय के सभी बच्चों को प्रेरित करें। साथ ही जागरण जल सेना के साथ बैठक, कार्यशाला, पौधरोपण, सोख्ता गड्ढा आदि कार्यक्रम के जरिए उन्हें मार्गदर्शित करें कि वे सिर्फ विद्यालय परिसर ही नहीं अपने गांव टोला में भी इस अभियान को लेकर समुदाय में जागरूकता फैलाएं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप