जागरण संवाददाता, चक्रधरपुर : बुधवार को डाउन इस्पात एक्सप्रेस ट्रेन में फाइन को लेकर राउरकेला के दो यात्री और टीटीई के बीच जमकर नोकझोंक हुई। जिसके बाद दोनों यात्रियों को आरपीएफ एस्कार्ट पार्टी ने हिरासत में लेते हुए चक्रधरपुर स्टेशन में उतार लिया। देर शाम तक दोनों यात्रियों को आरपीएफ पोस्ट में बैठाकर रखा गया था। हिरासत में लिए गए एक यात्री रमेश कुमार अग्रवाल ओडिशा भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य है। जबकि दूसरे नरेश कुमार अग्रवाल भाजपा नेता के रिश्तेदार हैं। दोनों राउरकेला से टाटानगर जा रहे थे।

रमेश अग्रवाल ने बताया कि वे दोनों जनरल टिकट लेकर इस्पात एक्सप्रेस में चढ़े और टीटीई आरके चौबे से सीट देने का आग्रह किया। टीटीई ने उन्हें सीट नंबर देते हुए बैठने को कहा। लेकिन ट्रेन जब मनोरहपुर पहुंच रही थी, तभी टीटीई आए और 1360 रुपये फाइन देने कहा। जब उन्हें कहा गया कि आपके कहने से सीट पर बैठे हैं, सीट का अतिरिक्त चार्ज जो होता है, ले लीजिए। लेकिन टीटीई फाइन लेने पर अड़े रहे। लेकिन जब उनसे फाइन की रसीद मांगी गई, तो रसीद देने से इंकार करते हुए केवल 600 रुपये देने को कहने लगे। वे टीटीई को फाइन के 600 देने को तैयार हो गए, लेकिन टीटीई रसीद नहीं देना चाहते थे। इस बीच टीटीई उनके साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट पर उतारू हो गए। बाद में उन्हें आरपीएफ जवानों के हवाले कर दिया। आरपीएफ जवान टीटीई की शिकायत पर दोनों यात्रियों को चक्रधरपुर स्टेशन पर उतार कर जीआरपी थाना ले आए। जबकि टीटीई आरके चौबे उसी ट्रेन से टाटानगर चले गए। शिकायतकर्ता टीटीई के नहीं रहने से जीआरपी ने केस लेने से मना कर दिया। बाद में आरपीएफ थाना प्रभारी एके साहू दोनों यात्रियों को आरपीएफ पोस्ट ले गए। दूसरी ओर आरपीएफ की एस्कार्ट पार्टी ने बताया कि दोनों यात्री बिना रिर्जेवशन एसी बोगी में सफर कर रहे थे। जब उनसे फाइन मांगा गया, तो टीटीई से उलझ गए और अभद्र व्यवहार करने लगे। आरपीएफ थाना प्रभारी एमके साहू ने बताया कि दोनों यात्रियों से फाइन वसूला जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप