जासं, चाईबासा : मानसिक रोग की दवा खाने से चाईबासा मंडल कारा में बंद विचाराधीन कैदी 22 वर्षीय कामरान अंसारी की तबीयत बिगड़ गई। उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में एडमिट किया गया है। बताया गया कि विचाराधीन कैदी ने सोमवार शाम को मानसिक रोग की दवा खा ली। कैदी तक मानसिक रोग की दवा कैसे और किसके माध्यम से पहुंची इसका जेल प्रबंधन पता लगा रहा है। जेल प्रबंधन यह भी पता लगा रहा है कि विचाराधीन कैदी ने मानसिक रोग की दवा क्यों खाई। उसका क्या मकसद था दवा खाने का। जबकि वह मानसिक रोग से पीड़ित नहीं है। मानसिक रोग की दवा खाने के बाद कैदी के शरीर में एठन की शिकायत होने लगी। साथ ही उसे चक्कर भी आने लगा। जिसके बाद कैदी का इलाज अस्पताल के चिकित्सक द्वारा की जा रही थी लेकिन उसकी स्थिति और बिगड़ने लगी तो जेल प्रबंधन ने कैदी को रात करीब आठ बजे इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। उसे मेल वार्ड में एडमिट किया गया है। जहांपर उसका इलाज चल रहा है। कामरान अंसारी किरीबुरू का रहने वाला है। वह अपनी पत्नी को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोप में पिछले दो साल से जेल में है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस