संवाद सूत्र, कुमारडुंगी : पश्चिमी सिंहभूम जिला के कुमारडुंगी थाना क्षेत्र में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। शुक्रवार को हत्यारोपित ब्रजमोहन हेम्ब्रम की निशानदेही पर शव को दीमक के टीला से निकालने के लिए कुमारडुंगी प्रखंड विकास पदाधिकारी ज्योति वंदना कुजूर को मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया। नियुक्त दंडाधिकारी व इंस्पेक्टर मनोरंजन प्रसाद सिंह की उपस्थिती में छोटा जाम्बनी गांव के बतोरगुटु नामक स्थान पर दीमक के टीले की खुदाई की गई। खुदाई के बाद पुलिस ने टीले के अंदर से एक 60 वर्षीय वृद्ध व्यक्ति की सड़ी गली लाश बरामद की। शव पर कपड़े नहीं थे। हत्यारोपित द्वारा शव को टीले में ताकत के साथ दबाकर भरने के कारण शव एक में सिमट गया था। काफी प्रयत्न के बाद शव को सावधानी पूर्वक बाहर निकाला गया। शव की पहचान मंगल सिंह हेम्ब्रम के रूप में हुई। उसकी पहचान बेटे भीमा हेम्ब्रम ने की। उसी ने टीले की खुदाई कर अपने पिता मंगल सिंह के शव को बाहर निकाला। उसके बाद शव को कुमारडुंगी थाना लाया गया। वहां पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल, चाईबासा भेज दिया गया है। इधर, हत्यारोपित ब्रजमोहन हेम्ब्रम को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस हत्याकांड में कुछ अन्य लोगों की भी संलिप्ता है। पूछताछ के बाद ही इसका खुलासा होगा। जांच दल में एसआई दिलीप कुमार खलको, एएसआई जयराम प्रसाद व पुलिस बल मौजूद थे। शव निकालने की प्रक्रिया की प्रशासन ने वीडियोग्राफी भी करायी है।

--तालाब में मिली मृतक की साइकिल, दूसरी जगह से कपड़े बरामद

मृतक मंगल सिंह हेम्ब्रम की पत्नी मुक्ता हेम्ब्रम के फर्द बयान पर कुमारडुंगी थाना में धारा 302 के तहत ब्रजमोहन के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। हत्यारोपित ने मंगल सिंह की गला दबाकर हत्या की थी। उसके बाद शव को निर्वस्त्र कर गांव की सीमा से बाहर बतोरगुटु नामक स्थल में खेत के मेढ़ पर दीमक के टीला में डाल दिया था। वहां से करीब आधा किलोमीटर दूर दूसरे दीमक के टीला में मंगल सिंह के कपड़े व जूट के बोरा को डाल दिया था। उसके बाद मंगल सिंह की साइकिल को उलिहातु गांव में स्थित सरकारी तालाब में फेंक दिया था। पुलिस ने गुरुवार के दिन ही तालाब से साइकिल बरामद कर ली। शुक्रवार के दिन नियुक्त दंडाधिकारी की उपस्थिती में शव व वस्त्र बरामद किया गया।

-रिश्ते में भतीजा लगता है हत्यारोपित ब्रजमोहन

हत्यारोपित ब्रजमोहन सिंह रिश्ते में मंगल सिंह हेम्ब्रम का भतीजा लगता है। दोनों का घर 50 मीटर के दायरे में है। एक ही अंगन है। मंगल सिंह की पत्नी मुक्ता हेम्ब्रम के बयानानुसार उनकी बेटी 22 वर्षीय पूजा हेम्ब्रम एक माह पहले बड़ा पासेया गांव में प्रेम विवाह कर चली गई है। बेटी के पास 14 नवंबर को गोनोंग जाने के लिए मंगल ने अपने भतीजे ब्रजमोहन हेम्ब्रम से सहायता मांगी थी। तीन माह पहले हुए झगड़े से नाराज ब्रजमोहन ने सहायता देने से इंकार कर दिया। उसी को लेकर दोनों में बहस हुई थी। उसके दूसरे दिन 15 नवम्बर से मंगल सिंह हेम्ब्रम घर से गायब था।

--परिजनों ने गुमशुदगी का थाना में दर्ज करवाया था मामला

मंगल सिंह हेम्ब्रम के अचानक 14 नवम्बर से गायब हो जाने से परिजनों ने उसकी काफी खोजबीन की। रिस्तेदारों के घर भी खोजबीन करने के बाद जब कुछ भी पता नहीं चला तो परिजनों ने 22 नवम्बर के दिन कुमारडुंगी थाना में गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया था। मामला दर्ज होने के बाद गांव में पुलिस के पूछताछ करने आने से डर कर हत्यारोपित भतीजा ने नशे की हालात में गांव में अपना गुनाह कबूल किया। उसके बाद हत्यारोपित की निशानदेही पर जांच के बाद शुक्रवार के दिन मंगल के शव को दीमक के टीला से बरामद किया गया।

--जमीन को लेकर तीन माह पहले दोनों में हो चुकी थी लड़ाई

मृतक मंगल सिंह की पत्नी मुक्ता के बयानानुसार भतीजा ब्रजमोहन हेम्ब्रम के साथ तीन माह पहले जमीन को लेकर बहस हुई थी। इसमें जमीन में मेढ़ बनाने को लेकर दोनों परीवार में विवाद उत्पन्न हुआ था। इस मामले में छोटा जाम्बनी मुंडा त्रिलोचन हेम्ब्रम ने पंचों के सामने विवाद को रखकर दोनों पक्ष में सुलह करवा दिया था। उस मामले को लेकर भी भतीजा ब्रजमोहन अपने चाचा मंगल सिंह हेम्ब्रम से नाराज था।

Edited By: Jagran