घाटशिला/बहरागोड़ा, जागरण कार्यालय : सीएनटी एक्ट लागू करने, जल-जंगल एवं जमीन की लूट पर लगाम लगाने की मांग को ले भू-अधिकार जन संवाद यात्रा का शुभारंभ झारखंड के बहरागोड़ा से किया गया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री डा. दिनेश कुमार षाडंगी ने इस अभियान में शामिल होने वाले लोगों का स्वागत किया। झारखंड में यह यात्रा बहरागोड़ा से पाकुड़ तक चलेगी। झारखंड में इस यात्रा का नेतृत्व गांव गण राज्य परिषद करेगी। यात्रा शुभारंभ होने के बाद मंगलवार की शाम लगभग साढ़े तीन बजे फुलडुंगरी चौक पहुंचते ही मांझी परगना महान के सदस्यों ने जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर राष्ट्रीय भूमि सुरक्षा परिषद के सदस्य सह एकता परिषद के अध्यक्ष पीभी राज गोपाल व अन्य ने देश परगना स्व. हरेन्द्र नाथ मुर्मू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

इस मौके पर राजागोपाल ने बताया कि 2 अक्टूबर 2011 को कन्या कुमारी से यात्रा शुरू किया गया है जो अब तक 9 प्रांत पूरा करते हुए 2500 किमी की यात्रा हो चुकी है। यह यात्रा 2 अक्टूबर 2012 को ग्वालियर में खत्म होगी। इससे पहले समग्र भूमि सुधार विधेयक के लिए वंचित का विशाल जन सांसद 2 मार्च को रांची में आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सीएनटी एक्ट जैसे कई कानून प्रांत वार है उसके संशोधन को लेकर गरीब भूमिहीन होते जा रहे है। उन्होंने बताया कि इस यात्रा के लिए राजघाट की मिट्टी कलश में लेकर भ्रमण किया जा रहा है। इस मिट्टी में वैसे 1000 वीर शहीदों की भी मिट्टी मिलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह संवाद यात्रा के दौरान सरकार सकारात्मक पहल करते हुए बात करती है या वैसे कानून को मान्यता रखती है तो ठिक है नहीं तो ग्वालियर से एक लाख लोग पदयात्रा का आन्दोलन शुरू करेंगे। इस यात्रा में फ्रंास के अलीना, कुमारनारायण मार्डी, भरत सिंह, राम स्वरूप, यहिल टुडू, सरला लता के अलावा देश परगना बैजू मुर्मू, देश विचार सचिव बहादूर सोरेन, सुधाीर सोरेन सहित काफी संख्या में लोग शामिल थे। उधर इस पदयात्रा का नेतृत्व बहरागोड़ा में गांव गणराज्य परिषद के कुमार चंद्र मार्डी, साझा मंच के शरत सिंह, गांव गणराज्य परिषद के राज्य समन्वयक रामू स्वरूप एकता महिला मंच के शाहिल टुडू कर रहीं हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर