जासं,सिमडेगा : आजादी की लड़ाई में अतुलनीय योगदान देने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती को जिले में भी पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया।

इस मौके पर नेताजी के संघर्ष,समर्पण एवं बलिदान को याद किया गया। उपायुक्त सुशांत गौरव ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125 वीं जयंती के अवसर पर सिमडेगा वासियों को शुभकामनाएं दी। उपायुक्त ने सुभाष चन्द्र बोस के विचारों का उद्बोधन कराते हुए बताया कि सफलता हमेशा असफलता के स्तंभ पर खड़ी होती है।किसी को भी असफलता से घबराना नहीं चाहिए। नेहरू युवा केंद्र द्वारा कोलेबिरा प्रखंड में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वी जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया। सर्वप्रथम कार्यक्रम में शिक्षिका जसिता सिधुरिया के द्वारा नेताजी के तस्वीर पर माल्यार्पण किया व दीप प्रज्वलित किया । यह कार्यक्रम बानो व कोलेबिरा के राष्ट्रीय स्वयंसेवक सौरव बड़ाईक व गौतम बड़ाईक के नेतृत्व में किया गया। मौके पर शिक्षिका जसिता सिधुरिया, सौरभ बड़ाईक व गौतम बड़ाईक के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बारे में बताया गया।इस अवसर पर निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।जिसमें कोलेबिरा व बानो के 50 प्रतिभागी शामिल हुए। इस निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान रूबी कुमारी, द्वितीय स्थान कमलेश बड़ाईक, तृतीय स्थान प्रवीण सिंह व चतुर्थ स्थान रेशमा कुमारी को पुरस्कार से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में महावीर बड़ाईक, रामचंद्र बड़ाईक, पीयूष बड़ाईक, तारा देवी, दयामुनी कुमारी, विनीता देवी मुख्य रूप से उपस्थित थे। महान स्वतंत्रता सेनानी थे सुभाष:प्राचार्य

कोलेबिरा:जवाहर नवोदय विद्यालय में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाई गई।इस मौके पर प्राचार्य बीपी गुप्ता ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा उन्होंने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस भारत के महान सपूत व महान स्वतंत्रता सेनानी थे।उन्होंने जिस त्याग व समर्पण के साथ अपनी मातृभूमि की सेवा की,वह अद्वितीय है। मौके पर अवसर पर वरीय शिक्षक संजय कुमार सिन्हा,सुनील कुमार ,रामायण पासवान, मनोज कुमार, नमिता कुमारी, श्रवण कुमार चौरसिया, डा. सुमन कुमार सिंह, दीप्ति यादव, पी सी कंडुलना, दीपांकर हल्दर, रूपा रोज बिलुंग, इंदिरा मिश्रा, पूनम कुमारी, बिकास चंद्रा, अवधेश रजक सहित सभी कर्मचारी मौजूद थे। कांग्रेस पदाधिकारियों ने किया नमन

सिमडेगा:कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनूप केशरी की अगुवाई में 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा' के नारे से युवा क्रांतिकारियों में देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत कर 'आजाद हिद फौज' की स्थापना करने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए श्रंद्धाजलि दी गई ।मौके पर जिला के वरिष्ठ उपाध्यक्ष ड़ीड़ी सिंह ने नेताजी के बारे संक्षिप्त में बताया कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने सिविल सेवा का अपना शानदार करियर त्याग कर स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए।वे कांग्रेस के अध्यक्ष बने और स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व करने के लिए अथक प्रयास किया। जब उन्होंने आजाद हिद फौज का नेतृत्व किया, तो उन्होंने सुभाष ब्रिगेड, गांधी ब्रिगेड, नेहरू ब्रिगेड और आजाद ब्रिगेड नाम के चार ब्रिगेड बनाए। उन्होंने म•ाबूती से सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई लड़ी और एक समावेशी, आधुनिक और प्रगतिशील भारत की कल्पना की। इस अवसर पर जिला प्रवक्ता रणधीर रंजन, मो कल्लू ,प्रदेश इंटक सचिव दिलीप तिर्की,कौशल किशोर रोहिल्ला, समीउल्लाह खान एवम मनोज केशरी उपस्थित रहे ।

नेताजी की तस्वीर पर किया माल्यार्पण

सिमडेगा:नगर परिषद के कार्यालय में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती

मनाई गई।नेताजी के जयंती के मौके पर नगर परिषद सिमडेगा में नेताजी की तस्वीर पर माल्यार्पण पर उन्हें याद किया गया।अनुमंडल पदाधिकारी महेंद्र कुमार, नगर परिषद अध्यक्ष पुष्पा कुल्लु, उपाध्यक्ष ओम प्रकाश साहु समेत कई लोगों ने नेताजी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया।

Edited By: Jagran