सिमडेगा, जासं। विद्युत विभाग के कनीय अभियंता कृष्ण कुमार से मारपीट करने के मामले में पुलिस ने कांग्रेस के पूर्व विधायक नियेल तिर्की को गिरफ्तार कर सीजेएम के न्यायालय में प्रस्तुत किया। जहां से उन्हें सिमडेगा जेल भेज दिया गया। विदित को जेई गत 13 सितंबर 2018 को कांग्रेस के पूर्व सिमडेगा विधायक नियेल तिर्की, उनके पुत्र विशाल तिर्की एवं अन्य लोगों के विरुद्ध सिमडेगा थाना में जानलेवा हमला करने, सरकारी कार्य में बाधा, कागजात छीनने आदि का मामला दर्ज कराया था।

कनीय अभियंता के मुताबिक बिजल बिल भुगतान बकाया होने के कारण वे नियेल तिर्की के पेट्रोल पंप का कनेक्शन काटने गए हुए थे।इस क्रम में ही  पूर्व विधायक, उसके पुत्र व पंप के कर्मियों के द्वारा उनके ऊपर जानलेवा हमला किया गया। हालांकि पूर्व विधायक नियेल तिर्की ने मारपीट की घटना से इंकार किया था। वहीं उन्होंने कहा कि बिजली बिल जमा करने के बावजूद उनके पेट्रोल पंप की लाइट  काट दी गई।

इधर थाना प्रभारी राजेन्द्र प्रसाद के मुताबिक पूर्व विधायक नियेल तिर्की को समाहरणालय के समीप तब गिरफ्तार किया गया जब वे अपने बेटे विशाल तिर्की के लिए नामांकन प्रपत्र खरीदकर निकले थे। उन्होंने बताया कि मामले में विशाल तिर्की भी आरोपी हैं। उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा। विशाल तिर्की युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भी हैं। इधर पूर्व विधायक की गिरफ्तारी की खबर तेजी से शहर में फैल गई। उनके समर्थक थाना व कोर्ट में भी पहुंचे।

सीएम के इशारे पर हुई गिरफ्तारी : अपनी गिरफ्तारी पर पूर्व विधायक नियेल तिर्की ने कहा कि यह सिर्फ चुनावी हथकंडा है। चुनाव के समय में इसलिए गिरफ्तारी कराई गई है, जिससे कि  राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को फायदा मिल सके।उन्होंने कहा कि उसने भी मामला दर्ज कराया है, परंतु प्रशासन के द्वारा कोई  कार्रवाई नहीं की गई।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप