मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सूत्र, गम्हरिया (सरायकेला-खरसावां) : गम्हरिया थाना क्षेत्र की जयकन पंचायत के बिंदापुर गांव के पाथरडीह टोला में गुरुवार को शराबबंदी के लिए मुहिम चलाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता राज वरदा (26) की हत्या कर दी गई। मिंट्टी काटने को लेकर शुरू हुई बहस ने ¨हसक रूप ले लिया। पड़ोसी ने राज पर तलवार से हमला कर दिया। जिसमें उसकी गर्दन कट गई और मौके पर ही मौत हो गई।

उसके भाई ने थाने में चार लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया, लेकिन पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जमशेदपुर स्थित महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) अस्पताल भेज दिया।

गम्हरिया थाना प्रभारी जय प्रकाश राणा ने बताया कि गुरुवार की सुबह करीब आठ बजे राज वरदा गांव में ही अपनी जमीन पर मिट्टी काट रहा था। इसी बीच पड़ोस के जमीन मालिक ने उस जमीन को अपना बता उसे मिट्टी काटने से मना किया। इसी बात को लेकर दोनों में विवाद होने लगा। तभी उस व्यक्ति ने घर से तलवार लाकर उस पर हमला किया, जिसमें मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक के भाई विष्णु सामद ने गणेश सामद, उसकी मां, पत्‍‌नी व सिबो सामद पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। शराब के खिलाफ चलाता था अभियान : ग्रामीणों ने बताया कि राज वरदा शराबबंदी के लिए हमेशा लड़ाई लड़ता था। ग्रामीणों को शराब पीने की लत से बचाने के लिए लोगों को जागरूक करता था। इससे आसपास के गांवों में भी उसकी एक अलग पहचान थी। मृतक के भाई ने बताया कि शराब बंदी के खिलाफ वह हमेशा मुहिम चलाता था। जिससे कई लोग उसके दुश्मन थे। इसके अलावा जमीन का भी कुछ मामला था। जिसमें गांव के कुछ युवकों ने ही मिलकर उसकी हत्या कर दी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप