जागरण संवाददाता, सरायकेला : सरायकेला खरसावां पुलिस लाइन में शुक्रवार की दोपहर रायफल सफाई के दौरान चली गोली से दिलीप सिंह नामक जवान घायल हो गया था। उसे जमशेदपुर स्थित टाटा मुख्य अस्पताल में दाखिल कराया गया है। जहां चिकित्सकों ने सीने का आपरेशन कर गोली निकाल दी है। पुलिस लाइन में पदस्थापित सिपाही दिलीप सिंह बिहार के नालंदा जिले का रहने वाला है। घटना दुर्घटना है या खुदकुशी का है। इसकी जांच की जा रही है। वरीय पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल की जांच की। जवानों से पूछताछ की गई। हथियार को जप्त किया गया है।

बता दें, सिपाही दिलीप सिंह रायफल की साफ-सफाई कर रहा था। इस दौरान ट्रिगर दब गई जिससे गोली चल गई। आवाज सुनकर जवान और अधिकारी मौके पर पहुंचे तो देखा कि दिलीप सिंह जमीन पर गिरा हुआ है। आननफानन जवानों ने घायल सिपाही को पहले सरायकेला सदर अस्पताल लेकर गए थे, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे टीएमएच रेफर कर दिया गया। इधर, मामले को लेकर चर्चा जारी है। कारण रायफल से चली गोली सीने में कैसे लगी। फिलहाल मामले की जांच की जा रहीं है। सरायकेला-खरसावां के एसपी आनंद प्रकाश और सार्जेट मेजर जवान को देखने टीएमएच पहुंचे। घायल जवान पुलिस लाइन में आर्मोरर पद पर पदस्थापित है। घटना की जानकारी उसके स्वजनों को विभाग की ओर से दे दी गई है। विभाग की ओर से मामले की जांच थाना के अधिकारी करेंगे। गौरतलब है। हथियार से गोली चलने की जब भी घटना पुलिस लाइन, बैरक या थाना परिसर में होती है। वरीय अधिकारी ये बयां करते है कि हथियार सफाई के दौरान लापरवाही में गोली चल गई जिसके कारण जवान घायल हो गया या उसकी मौत हो गई।

पुलिस अधीक्षक आनंद प्रकाश के अलावा पुलिस लाइन के सार्जेंट दिलीप पासवान, पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र खाका, सचिव कामेश्वर राम, कोषाध्यक्ष बबलू मुर्मू, उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र मुंडा तथा अन्य पुलिस मेंस एसोसिएशन के सदस्यों ने जमशेदपुर टीएमएच पहुंचकर घायल दिलीप कुमार सिंह की हाल-चाल की जानकारी ली। चिकित्सकों के अनुसार फिलहाल दिलीप कुमार सिंह खतरे से बाहर हैं। जवान के घरवाले भी पहुंच गए हैं। फिलहाल उसकी हालत खतरे से बाहर है।

Edited By: Jagran