संवाद सूत्र, खरसावां : समेकित बाल विकास परियोजना कार्यालय में शुक्रवार को आंगनबाड़ी सेविकाओं को किचेन गार्डेन व न्यूट्रीशन गार्डेन बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। बीडीओ मुकेश मछुआ ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में लोग किचेन गार्डेन व न्यूट्रीशन गार्डेन को प्राथमिकता के साथ अपना रहे हैं। बेहतर भोजन व उत्तम स्वास्थ्य के लिए किचेन गार्डेन बेहतर विकल्प है। उन्होंने कहा कि सभी को अपने पोषण पर ध्यान देने की आवश्यकता है। सीडीपीओ दुर्गेश नंदिनी ने कहा कि वर्तमान समय में किचेन गार्डेन व न्यूट्रीशन गार्डेन के मॉडल को लोग छोटे से बड़े शहरों में अपना रहे हैं। बेहतर भोजन व उत्तम स्वास्थ्य के लिए किचेन गार्डेन जरुरी है। किचेन गार्डेन व न्यूट्रीशन गार्डेन पौष्टिक आहार पाने का उत्तम साधन बन गया है। गार्डेन में विविध प्रकार के फल व सब्जियां उगा कर स्वास्थ्य लाभ लिया जा सकता है। इस माध्यम से ऑर्गेनिक साग-सब्जी का उत्पादन कर सब्जी के मामले में लोग आत्मनिर्भर बन सकते हैं। बीटीएम नीरज श्रीवास्तव ने आंगनवाड़ी सेविकाओं को बेहतर भोजन व उत्तम स्वास्थ्य के लिए किचेन गार्डेन बनाने के तरीके, इसके प्रबंधन, सब्जियों के चयन व रोग से बचाव की जानकारी दी। मौके पर बीडीओ मुकेश मछुआ, सीडीपीओ दुर्गेश नंदिनी, बीटीएम नीजर कुमार श्रीवास्तव उपस्थित थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस