संवाद सूत्र, खरसावां : झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी संघ सरायकेला के एक प्रतिनिधिमंडल ने खरसावां विधायक दशरथ गागराई से मिलकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मुख्य रूप से स्वास्थ्य विभाग में विभिन्न कार्यक्रम के अंतर्गत अनुबंध पर कार्यरत चिकित्सा कर्मियों का एकमुश्त सीधा समायोजन नियमितीकरण की मांग की गई थी। ज्ञापन में कहा गया है कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग में आज अगर सबसे पीड़ित और शोषित वर्ग है तो वो है अनुबंध कर्मी चाहे मामला सुविधा का हो या मानदेय का, स्वास्थ्य विभाग में स्वीकृत एवं रिक्त पदों पर कई वर्षो से अनुबंध में सेवा दे रहे हैं। अभी कोविड-19 महामारी में भी पारा चिकित्सा कर्मी आगे बढ़-चढ़कर अपनी जान की परवाह किए बगैर कार्य का निर्वहन निष्ठा पूर्वक कर रहे हैं, परंतु अभी तक हम सब की स्थिति दयनीय बनी हुई है। एक ही संस्थान में एक ही पद पर विभिन्न मानदेय पर काम करने से और संस्थान में अनुबंध का कलंक झेलने से हमारे मानसिक स्थिति के साथ ही आर्थिक स्थिति भी दयनीय हो गई है। साथ ही नई नौकरी के लिए उम्र सीमा भी समाप्त हो चुकी है। इसपर विधायक दशरथ गागराई ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी संघ के मांगों से अवगत कराया तथा संघ की मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आग्रह किया।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस