जागरण संवाददाता, सरायकेला : सरायकेला-खरसावां जिले में कोरोना वायरस को लेकर काफी सख्ती बरती जा रही है। इसके लिए काफी कड़ाई से कदम उठाया जा रहा है। इसको देखते हुए सरायकेला-खरसावां जिले में सख्ती बरती गई है और यहां-वहां थूकने वाले व्यक्ति को भी जेल भेजने का आदेश जारी कर दिया गया है। तंबाकू सेवन को जन स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा बताकर सरायकेला-खरसावां के उपायुक्त ए. दोड्डे द्वारा दिशा-निर्देश जारी कर कहा गया है कि थूकना सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए खतरा है और संचारी रोगों के फैलने का एक प्रमुख कारण है। उपायुक्त ने कहा कि तंबाकू सेवन करने वालों कि प्रवृति जहां-तहां थूकने की होती है इससे कोरोना, इंसेफ्लाइटीस, स्वाइन फ्लू जैसी अनेक बीमारियों के बढ़ने का खतरा बना रहता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस को विश्वव्यापी महामारी घोषित करने के बाद भारत सरकार और झारखंड सरकार द्वारा महामारी से बचाव के लिए कई तरह के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। निर्देश के अनुसार आइपीसी कि धारा के तहत कोई भी व्यक्ति यहां-वहां थूकते हुए पाया जाता है तो उसपर कारवाई की जाएगी। जिसके अंतर्गत छह महीने का कारावास या 200 रुपये तक के जुर्माने से दंडित किया जा सकता है। सिगरेट एवं तंबाकू उत्पादन अधिनियम के तहत सार्वजनिक स्थानों पर धूमपान करने वाले को 200 रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। ज्ञात हो कि उक्त विषय के बारे में जन स्वास्थ्य की रक्षा के लिए सरायकेला जिले के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय एवं परिसर साथ ही सभी शैक्षणिक संस्थान एवं परिसर तथा सभी थाना परिसर में किसी भी प्रकार का तंबाकू, सिगरेट, बीड़ी, खैनी, गुटखा आदि को प्रतिबंधित किया गया है। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कारवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस