जागरण संवाददाता, सरायकेला : मानसून आने को है और नगर पंचायत इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। मानसून का आगमन निकट आ रहा है एवं वर्षा के कारण नालियों की साफ-सफाई कराना अति आवश्यक है जिससे नालियों का गंदा दूषित पानी सड़क के ऊपर ना आए और आम नागरिकों को आने-जाने तथा सुगम यातायात में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो। गंदे दूषित पानी से विभिन्न प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं नाली का गंदा पानी कचरा आदी सड़क पर बहने से स्वच्छ भारत मिशन में प्रतिकूल असर पड़ सकता है। नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी राजीव रंजन सिह ने बताया कि नगर के नालियों की सफाई मानसून पूर्व की जा रही है। इसके बाद भी अगर किसी के घर के आगे नाली जाम हो जाती है तो तत्काल नपा में या फिर उनको सूचना दें ताकि समय पर नाली की सफाई कराई जा सके। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि प्लास्टिक एवं कचरा नालियों में न डालें। एक निर्धारित स्थान पर ही कचरा डालें जिससे आने वाले बरसात में नाली का पानी घरों में न घुसे। इस क्रम मे गुरुवार से राजीव रंजन सिंह कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत सरायकेला के द्वारा स्वयं उपस्थित होकर कालूराम चौक से धर्मशाला तक एवं आसपास के स्थान को जहां झाड़ियां भरी हुई थीं उनकी भी पूरी तरह से साफ-सफाई कराई गई। सभी नालियों की साफ-सफाई प्रतिदिन युद्ध स्तर पर अलग-अलग वार्ड में की जा रही है। नालियों की साफ-सफाई ससमय पूरा करने हेतु अतिरिक्त सफाई कर्मी और दैनिक मानदेय पर भी रखा गया है। नगर पंचायत सरायकेला के नगर प्रबंधकों तथा सभी सफाई पर्यवेक्षक सफाई कर्मचारी द्वारा युद्ध स्तर पर नगर पंचायत क्षेत्र के नालियों की सफाई प्रतिदिन अलग-अलग वार्डो में की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस