जागरण संवाददाता,सरायकेला : जिले के विभिन्न प्रखंड में संचालित ऐसे 12 निजी स्कूल हैं जिनके ऊपर जल्द विभागीय गाज गिरने वाली है। इन स्कूलों के प्रबंधन से जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा वर्ष 2017 में अद्यतन प्रपत्र एक की मांग की गई थी, जिसे अभी तक उपलब्ध नहीं कराया गया। इन 12 स्कूलों को विभाग की ओर से मान्यता भी नहीं मिली है। इनमें जिले के चांडिल प्रखंड अंतर्गत स्काइलैंड इंगलिश स्कूल, ओमी मेमोरियल पब्लिक स्कूल, ब्रोड ब्यू इंगलिश स्कूल, नूसरत पब्लिक स्कूल बंधुगोड़ा, गम्हरिया प्रखंड के निर्मला पब्लिक स्कूल, शेन इंटरनेशनल स्कूल कांड्रा, इंडियन पब्लिक स्कूल कोलाबीरा, राजनगर प्रखंड के सिस्टर मंजू डीप फाउंडेशन स्कूल, बीपीडी स्कूल खैरकोचा ईदल, सरायकेला प्रखंड के सनसाइन किड्स पब्लिक स्कूल गौरांगडीह, जेवियर स्कूल व खरसावां प्रखंड के एसएस पब्लिक स्कूल बोरदा शामिल है। जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा प्रपत्र एक की मांग को लेकर अब तक तीन बार पत्राचार किया गया है, इसके बावजूद किसी भी स्कूल ने प्रपत्र जमा नहीं किया। विभाग ने पिछले दिनों इन स्कूलों को अंतिम पत्राचार का प्रपत्र जमा करने के साथ ही उपायुक्त को स्कूलों के संबंध में अवगत कराया गया। उपायुक्त को लिखित पत्र के माध्यम से स्कूलों की जानकारी देने के साथ ही जिला शिक्षा अधीक्षक सह कार्यक्रम पदाधिकारी फूलमनी खालखो ने विभागीय कार्रवाई करने की तैयारी शुरू कर दी है। इस संबंध में फूलमनी खालखो ने बताया कि जिले के कुल 12 निजी स्कूलों को लगातार तीन बार पत्र भेजकर अद्यतन प्रपत्र एक की मांग की गई, लेकिन अब तक किसी भी स्कूल प्रबंधन ने जमा नहीं किया। अब केवल एक सप्ताह का समय दिया है, यदि प्रपत्र जमा नहीं किया जाता है तो स्कूलों को बंद करने की घोषणा कर दी जाएगी। वहीं प्रबंधन व संचालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस