राजमहल, साहिबगंज : विक्रम संवत 2075 नववर्ष के आगमन पर रविवार को सरस्वती शिशु विद्या मंदिर विद्यालय में समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान बैंड के आकर्षक धुन के साथ मनमोहक विभिन्न परिधानों में शोभायात्रा निकालकर नगर भ्रमण किया। कासिम बाजार स्थित चैती दुर्गा मंदिर से नवरात्र के कलश स्थापना को लेकर एक सौ इक्यावन कन्याएं कलश लेकर शोभा यात्रा में शमिल हुई। सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के भैया बहनों ने भगवान राम, सीता, लक्ष्मण, भगवान कृष्ण, बाबा साहेब अंबेदकर, परी जैसे आकर्षक रूपों में साज सज्जा कर शोभायात्रा के आकर्षण को और अधिक बढ़ा दिया। कलशयात्रा का शुभारंभ कालीघाट से संकल्पित गंगाजल के साथ किया गया। शोभायात्रा विद्यालय परिसर से निकलकर महाजनटोली दुर्गा मंदिर परिसर से होकर मुख्य मार्ग एन. एच.80 से होकर नयाबाजार मोड़ तक गया और पुन: मंदिर परिसर व विद्यालय परिसर तक पहुंचकर समाप्त हो गई। महाजनटोली से नयाबाजार मोड़ तक जगह जगह शोभायात्रा में शामिल भैया बहनों एवं कलश यात्रा में शामिल भक्त कन्याओं के लिए पानी और शरबत का इंतजाम विहिप कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोंगों के द्वारा किया गया था। कार्यक्रम की सफलता में विद्यालय के प्राचार्य संदीप कुमार मंडल, विहिप के नीरज घोष, कुमुद राय, गगन बापू, पार्थ दत्ता, शशि राय, संजीव गौरव, राकेश हलदार, आचार्य आचार्या मिश्री प्रसाद मंडल, संजय झा, नंदलाल सेन, पवित्र शील, श्वेता रानी, स्वीटी रानी, श्वेता कुमारी, सुष्मिता कुमारी सहित अन्य ने प्रमुख योगदान दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस