संवाद सहयोगी, साहिबगंज: बड़ी कोदरजन्ना उच्च विद्यालय स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे मजदूरों ने शनिवार को हंगामा किया। घटना की सूचना पाते ही तीन थाना की पुलिस के साथ साथ अनुमंडल पदाधिकारी पंकज साव व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजा मित्रा भी वहां पहुंचे। काफी समझाने बुझाने के बाद लोग माने। सेंटर में रह रहे श्रमिकों ने बताया कि हम लोगों के साथ ज्यादती हो रही है। शनिवार की सुबह सात लोगों को छोड़ा गया है, जिसकी किसी प्रकार की जांच नहीं हुई है, जबकि हम लोग 14 दिन से अधिक का समय पूरा कर चुके हैं, फिर भी हम लोगों को नहीं छोड़ा जा रहा है। एक कमरे में क्षमता से अधिक लोगों को रखा जा रहा है। बताया कि जब हम लोगों ने अपनी रिहाई की मांग की तो कुछ पुलिस पदाधिकारियों ने जबरन धक्का-मुक्की करते हुए अपशब्दों का प्रयोग किया।

रिपोर्ट का हो रहा इंतजार: वहां पहुंचे साहिबगंज सीओ महेंद्र मांझी ने बताया कि क्वारंटाइन सेंटर में 60 लोगों को रखा गया है। इनमें से 38 लोगों का सैंपल जांच के लिए बाहर भेजा गया है। उनकी रिपोर्ट अब तक नहीं आयी है। बिना रिपोर्ट आए उनलोगों को नहीं छोड़ा जा सकता है। उधर, सात लोगों का सैंपल नहीं भेजा गया था। इसलिए उन्हें छोड़ दिया गया। उन्हें छोड़ते देखकर अन्य मजदूरों ने हंगामा किया। एसडीओ व पुलिस पदाधिकारियों के सहयोग से मामले को शांत कराया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस