राजमहल (साहिबगंज) : प्रखंड सभागार में शुक्रवार को बीस सूत्री अध्यक्ष सोनेलाल ठाकुर की अध्यक्षता में समिति की बैठक हुई। इसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, अंचल कार्यालय से जुड़े विभिन्न कार्यों, आइसीडीएस कार्य व बैंक से संबधित कार्यो की समीक्षा कर कई प्रस्ताव लिए गए। सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग की ओर से आगामी 26 मई से प्रारंभ होने वाले एमआर टीकाकरण के संदर्भ में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार ने बताया कि खसरा के रूबेला वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु नौ माह से पंद्रह वर्ष तक के बच्चों का टीकाकरण करना है। बताया कि 2017 में कालाजार के कुल 25 रोगियों का पंजीकरण किया गया था, जिनमें 4 रोगियों में परिणाम पाजिटिव पाया गया। झारखंड के चार जिले साहिबगंज, पाकुड़, गोड्डा व दुमका को कालाजार जोन के रूप मे चिन्हित किए जाने की बात कही गई। इसके लिए विशेष सतर्कता बरतने हेतु क्षेत्र में जागरूकता फैलाने का प्रस्ताव लिया गया। अनुमंडलीय अस्पताल में चिकित्सकों की संख्या काफी कम होने के बाबजूद दो चिकित्सकों की दो से तीन दिन अन्य स्थानों में प्रतिनियुक्ति पर रोष व्यक्त कर इनकी प्रतिनियुक्ति को रद्द करने कर पूर्ण रूप से अस्पताल में योगदान सुनिश्चित कराने हेतु सीएस और उपायुक्त से पत्राचार करने का प्रस्ताव लिया गया। 2014-16 के बीच कुल 7000 प्रसूति महिलाओं का निबंधन मातृत्व लाभ योजना के अन्तर्गत किए जाने पर उसमें मात्र 3500 महिलाओं को ही इसका लाभ मिलने का भी मामला उठा। शिक्षा विभाग की ओर से अभी तक मवि मखानी के प्रधान शिक्षक विरेंद्र खत्री के लगातार 25 से अधिक वर्षो से योगदान काल से विद्यालय में ही पदस्थापित रहने पर उनके अन्यत्र स्थानांतरण पर किसी प्रकार की विभागीय कार्यवाही ना होने सबंधित रिपोर्ट के प्रस्तुत नहीं किए जाने पर रोष जताकर बीईईओ और विभागीय बीपीओ के वेतन भुगतान पर रिपोर्ट के प्रस्तुत होने तक रोक लगाने का प्रस्ताव लिया गया। सदस्यों ने इस बात पर भी रोष जताया कि मेघा छात्रवृत्ति की परीक्षा में पूरे प्रखंड से कुल 33 छात्र छात्रा परीक्षा में शामिल हुए थे, जिनमें से 20 छात्र छात्राएं आखिर मवि मखानी से ही क्यों थे। प्रखंड के अन्य विद्यालयों से मात्र 13 परीक्षार्थी के ही शामिल होने के संदर्भ में विभाग से रिपोर्ट की मांग भी की गई। आइसीडीएस विभाग से रिपोर्ट की मांग करते हुए कहा गया कि आखिर क्यों आंगनबाड़ी सेविकाओं के पोषाहार के बैंक खाते को होल्ड कर दिया गया है। इससे पोषाहार की राशि निकासी ना होने से पोषाहार वितरण में रूकावट आ रही है। मौके पर प्रखंड प्रमुख सलोनी मरांडी, प्रखंड सूत्री उपाध्यक्ष पंकज घोष, बीडीओ अजय कुमार रजक, सीओ ओंकारनाथ स्वर्णकार, नीरज हेम्ब्रम, डॉ. संजय कुमार, डॉ. अमरेंद्र कुमार, राजेश मडल, रेखा देवी मिथिलेश पांडे, प्रवीण कुमार, दिवाकर कुमार, अनुप कुमार, सबीना हेम्ब्रम, ज्ञानी बाड़ा, मो. जाहिद, मोहनलाल साहा, सुदर्शन पासवान, रोहित कुमार, सुशील कुमार आदि मौजूद थे।

By Jagran