जागरण संवाददाता साहिबगंज: जस्टिस फार रूपा तिर्की संगठन के अध्यक्ष अरविद कुमार गुप्ता ने रांची में पत्रकारों से कहा कि अब झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। आम जनता के ऊपर लगातार झूठे मुकदमे किए जा रहे हैं। आम जनता पर लाठियां बरस रही है। न्याय की आवाज बुलंद करने पर फर्जी मुकदमा में जेल भेज दिया जाता है। झारखंड की स्थिति अब अराजक हो गई है। यहां जज भी सुरक्षित नहीं है। इसलिए अब झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाना चाहिए, ताकि आम जनता अमन और सुकून की जिदगी जी सके।

जस्टिस फार रूपा तिर्की के अध्यक्ष अरविद कुमार गुप्ता रांची पहुंच कर रूपा तिर्की के परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि झारखंड हाईकोर्ट के आदेशानुसार साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत की सीबीआइ जांच शुरू हो चुकी है। ज्ञातव्य हो कि साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत की जांच सीबीआइ से कराने की मांग को लेकर साहिबगंज में जस्टिस फार रूपा तिर्की संगठन के अध्यक्ष अरविद कुमार गुप्ता ने सीबीआइ से जांच कराने की मांग को लेकर आंदोलन का बिगुल फूंका था। उन्होंने कहा कि सरकार के इशारे पर इस आंदोलन को दबाने के लिए मुझे झूठे केस में फंसा कर जेल भेज दिया गया था, परंतु अंतत: आंदोलन की जीत हुई।

Edited By: Jagran