संवाद सहयोगी, उधवा (साहिबगंज) : उधवा प्रखंड से केरल में काम करने गए मजदूर घर लौट रहे हैं। मगर उनमें कोरोना का डर सता रहा है। मजदूरों के लौटने के बाद उधवा में उनकी जांच का कोई इंतजाम नहीं है।

वैसे कोरोना का खौफ उधवा प्रखंड के विभिन्न हिस्सों देखा जा रहा है। केरल से काम कर लौटे एक मजदूर का कोरोना संक्रमित होने की अफवाह के बाद यहां बायोमैट्रिक सिस्टम से संचालित प्रज्ञा केंद्र और सीएसपी पर इसका असर देखा जा सकता है। प्रखंड मुख्यालय स्थित एसजीएसवाई सभागार के प्रज्ञा केंद्र में आधार कार्ड अपडेट करने का कार्य रोक दिया गया है। प्रज्ञा केंद्र के बाहर पोस्टर चिपकाया गया है। उधवा प्रखंड मुख्यालय से सटे कई एसबीआइ और वनांचल ग्रामीण बैंक के सीएसपी संचालकों ने बायोमैट्रिक सिस्टम के कारण ट्रांजेक्शन पर एहतियात के तौर पर रोक दिया है।

जंगलपाड़ा में एक मजदूर की बुखार व उल्टी की शिकायत पर लोगों ने कोरोना संक्रमित होने की अफवाह फैला दी। लेकिन प्रशासनिक तौर पर इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है। यहां पर यह भी चर्चा है कि केरल सरकार ने प्रवासी मजदूरों को अपने प्रदेश में लौट जाने की हिदायत दी है। उसके बाद केरल से कई मजदूर यहां लौट रहे हैं। इसके स्वास्थ्य जांच की कोई व्यवस्था प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उधवा या राजमहल में नहीं किया गया है। सीएसपी व प्रज्ञा केंद्र को बंद कर दिया गया है।

-----------

उधवा व राजमहल में कोरोना वायरस की जांच के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। सदर अस्पताल साहिबगंज में आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। क्षेत्र में कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग नजर बनाए हुए है। उपायुक्त साथ गुरुवार को विशेष बैठक कर आगे की रणनीति बनाई जा रही है।

डा. खालिक अंसारी, चिकित्सा पदाधिकारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उधवा। साहिबगंज

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस