जागरण संवाददाता, साहिबगंज : जिले में घोषित लॉकडाउन के बीच अब भी जिले के विभिन्न चौक-चौराहों पर सुबह-शाम लोगों की भीड़ उमड़ जा रही है। हालांकि, सुबह 11 बजे के बाद सड़कों पर सन्नाटा छा जाता है। सुबह-शाम जरूरत की सामग्री खरीदने के लिए लोग निकलते हैं तो सोशल डिस्टेंसिग की बात भी भूल जाते हैं। साहिबगंज रेलवे स्टेशन के समीप लगनेवाली सब्जी मंडी में तो सुबह में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है। इस दौरान उन्हें रोकने-टोकनेवाला कोई नहीं होता है। पिछले दिनों एसडीपीओ राजा मित्रा ने सब्जी मंडी के निरीक्षण के दौरान वहां स्थायी रूप से माइकिग कराने का निर्देश दिया था लेकिन अब तक इसकी व्यवस्था नहीं हो पायी है। सिविल सर्जन डॉ डीएन सिंह ने भी इसपर चिता जतायी है। उन्होंने स्टेशन के नजदीक लगनेवाली सब्जी मंडी को स्टेडियम में शिफ्ट करने की जरूरत बतायी है। कहा कि इस मामले से वे उपायुक्त वरुण रंजन को अवगत कराएंगे। कहा कि सब्जी मंडी में सुरक्षा मानकों का पालन नहीं किया जा रहा है। वहां लोग एक-दूसरे के संपर्क में आ जाते हैं। इस वजह से यहां बरते जा रहे एहतियात का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। शुक्रवार को जिले के सभी मस्जिद बंद रहे। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपने अपने घर पर नमाज पढ़ी। सुबह में ही मस्जिदों से इस आशय की सूचना दे दी गई थी। चैती दुर्गा पूजा स्थलों पर भी कोरोना वायरस की वजह से पोस्टर लगाकर न आने की अपील की जा रही है। जिले में अब तक स्थिति सामान्य है। चार हजार से अधिक लोगों को उनके घरों में ही क्वारंटाइन किया गया है। जिले में बनाए गए आइशोलन वार्ड में अब तक एक भी मरीज को भर्ती नहीं किया गया है। न ही किसी मरीज की कोरोना की जांच की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस