़फोटो छह

जागरण संवाददाता, साहिबगंज : झामुमो के कद्दावर नेता व बरहेट के पूर्व उपप्रमुख 52 वर्षीय उमेद अली का निधन रविवार को हो गया। वे कोरोना संक्रमित थे। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पहल पर उनका इलाज रांची के मेडिका में चल रहा था। रविवार सुबह करीब सात बजे उनका निधन हो गया। उमेद अली ने छात्र जीवन से राजनीति की शुरुआत की थी। उनकी दूसरी पत्नी मोनिका किस्कू ने 2014 में बरहेट से तृणमूल प्रत्याशी के रूप में विधानसभा का चुनाव भी लड़ा था। पहली पत्नी जाहिदा बीबी भी उपप्रमुख रह चुकी हैं। पिछले विधान सभा चुनाव से पूर्व उन्होंने झामुमो का दामन थाम लिया था। उनके निधन पर क्षेत्र में शोक की लहर है। बोरियो युवा कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष तारिक अजीज ने उनके निधन पर पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि जनाब उमेद अली की मौत का खबर सुनकर मैं बहुत ही आहत हूं।

---------------

बरहेट विधानसभा क्षेत्र के प्रमुख नेताओं में शुमार जनाब उमेद अली की मौत से मैं काफी आहत हूं। उनके कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिली थी। इसके बाद उनके बेहतर उपचार का निर्देश दिया था। उनका इलाज चल रहा था लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका। यह मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। पार्टी उनके स्वजनों के साथ है।

हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री, झारखंड

फोटो नौ

--------------

झामुमो नेता उमेद अली बेहद ही सुलझे हुए इंसान थे। रांची आने पर अक्सर उनसे मुलाकात होती थी। बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए वे चितित रहते थे। उनके निधन से पार्टी ने एक बेहतर नेता खो दिया है। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दें।

अभिषेक प्रसाद, मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार, झारखंड

फोटो नौ

-------------------

जनाब उमेद अली की मौत का खबर सुनकर मैं बहुत आहत हूं। वे मेरे अच्छे भाई एवं दोस्त थे। उनका असमय जाना मेरे लिए काफी दुखद है। झारखंड मुक्ति मोर्चा परिवार ने आज एक सच्चे सिपाही को खो दिया है।

पंकज मिश्रा, केंद्रीय सचिव, झामुमो

फोटो 8

Edited By: Jagran