संस, कोटालपोखर (साहिबगंज): बरहड़वा प्रखंड क्षेत्र के पुराना पलासबोना दक्षिण टोला में शुक्रवार की रात धार्मिक जलसा का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता मौलाना सुलतान अहमद शमसी ने की।

प्रधान वक्ता पश्चिम बंगाल के सागर दिग्धी, मुर्शिदाबाद के मौलाना महबूब मुर्शीद ने अपनी तकरीर में कहा कि लोगों को अल्लाह ताला के बताए मार्ग पर चलना चाहिए। समाज में एकता, भाईचारे और हमदर्द के साथ एक दूसरे के सुख-दुख में मदद करना ही सच्चा धर्म है। जो व्यक्ति समाज के दीन, दुखी, असहाय, लाचार लोगों का सम्मान के साथ मदद करता हो, वैसे व्यक्ति को अल्लाह हमेशा मदद करते हैं। श्रीकुंड के मौलाना असलम मदनी ने जलसा को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी समाज की उन्नति के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण कड़ी है। बेहतर शिक्षा से व्यक्ति के निर्माण के साथ-साथ सच्चे समाज का भी निर्माण होता है।

अब्दुल्लापुर के मौलाना हनीफ ने अपनी तकरीर मे कहा कि अपने जीवन के दैनिक कार्य के साथ-साथ समय निकाल कर प्रतिदिन अल्लाहताला को भी याद करना चाहिए। इसके लिए समाज के सभी लोगों को पांच वक्त का नमाज अदा करनी चाहिए। उनके बताए गए हर एक नियम का पालन करना चाहिए। इस्लाम धर्म के उत्थान के लिए सभी को सहयोग प्रदान करना चाहिए।

मौलाना शौकत अली (आमतल्ला), मौलाना इस्माईल कासमी (तारानगर), मौलाना अब्दुर रहमान (सिमोलतल्ला), मौलाना शौकत अली (लोहरपुर), मौलाना तौहिद (कटिहार) आदि वक्ताओं ने जलसा को संबोधित किया। साथ ही पलासबोना दक्षिण टोला के जामे मस्जिद की उन्नति और तरक्की को लेकर सहयोग प्रदान करने की अपील की। संचालन पलासबोना पंचायत के मुखिया मो हेजाज ने किया। मौके पर जलसा कमेटी के अध्यक्ष फिरोज आलम, उपाध्यक्ष खुशबुर रहमान, सचिव सुफयान अली, उप सचिव अब्दुल गफ्फूर, कोषाध्यक्ष अशराफुल हक आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस