संवाद सहयोगी, बरहेट (साहिबगंज): गुमानीबराज का फाटक खुला रहने से बरहेट प्रखंड क्षेत्र के कई मुहल्लों में मेगा जलापूर्ति योजना का पानी नहीं मिलने पर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार पिछले दिनों लगातार हो रही वर्षा के बाद गुमानी बराज के गेट को सिचाई विभाग के पदाधिकारियों के निर्देश पर खोल दिया गया था। इससे गुमानी नदी में आई बाढ़ का पानी विकराल न हासिल करे। पर विभाग के पास अब आवंटन के अभाव में फिर गेट को बंद नहीं किया गया गेट अब तक खुला रखा गया है। बराज का गेट खुला रहने से करोडों की लागत से बनी मेगा जलापूर्ति योजना लगभग दो सप्ताह से पूरी तरह से ठप है। बराज का गेट खुला रहने से नदी में पानी कम हो जाने से लोगों को स्नान करने के अलावा कई तरह के परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मेगा जलापूर्ति योजना से पानी नहीं मिलने से प्रखंड क्षेत्र के कई गांव में पानी की किल्लत सताने लगी है।

----------

विभाग के पास आवंटन के कमी होने के कारण जहां बराज गेट को नहीं गिराया जा रहा है। वहीं मैकेनिकल विभाग के द्वारा कई तरह के फाल्ट होने के कारण काफी परेशानी हो रही है। गुमानी बराज परियोजना सिचाई सुविधा के लिए बनाया गया है। जिससे पाकुड़ तथा साहिबगंज जिले के किसानों को सिचाई पटवन के लिए व्यवस्था देनी है। पर फ्लेक्स बांध नहीं बनने के कारण उसका लाभ अब तक नहीं मिल रहा। बांध की जमीन के लिए भू अर्जन विभाग को राशि भी मुहैया करा दी गई है पर अब तक काम पूरा नहीं हुआ है। मेगा जलापूर्ति योजना बाद में बनी है। विभाग को पत्र लिखा गया है। आवंटन मिलने से कार्य शुरू किया जाएगा।

शोभा कांत सिंह, कार्यपालक अभियंता, सिचाई विभाग

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप