जागरण संवाददाता, साहिबगंज : साहिबगंज में गंगा नदी गुरुवार को खतरे के निशान से एक मीटर 30 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी। बक्सर, पटना में जलस्तर घट रहा है। हाथीदह, भागलपुर, कहलगांव, फरक्का में जलस्तर स्थिर है। मुंगेर व साहिबगंज में घटने लगा है।

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार साहिबगंज में गंगा नदी गुरुवार सुबह 6 बजे 28.550 मीटर पर बह रही थी। खतरे का निशान 27.250 मीटर है। आयोग के साहिबगंज प्रभारी रंजीत कुमार मिश्र ने बताया कि गंगा नदी का जलस्तर शुक्रवार सुबह 6 बजे तक 28.550 मीटर पर स्थिर रहने आशंका व्यक्त की गई है। साहिबगंज तक जलस्तर स्थिर है इसलिए आने वाले दिन में भी पानी घटेगा।

अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद ने बताया कि जिले में जहां भी बाढ़ प्रभावित परिवार हैं। सभी को राहत सामग्री अंचल अधिकारी की रिपोर्ट पर एसडीओ के हस्ताक्षर पर उपलब्ध कराई जा रही है। जो परिवार अबतक राहत नहीं पा सके हैं। सभी प्रभावितों को राहत सामग्री दी जाएगी। शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे कराकर वाजिब लोगों को ही राहत सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

--------

उधवा में बाढ़ की स्थिति यथावत

संवाद सहयोगी, उधवा (साहिबगंज) : दियारा क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति यथावत है। सड़कों पर पानी बह रहा है। इस कारण यातायात बाधित है। पियारपुर तथा अमानत दियारा जाने वाली सड़क पर बाढ़ का पानी है। पूर्वी प्राणपुर, पश्चिमी प्राणपुर, दक्षिण पलाशगाछी को जोड़ने वाले नासघाट अकूनबोना सड़क तथा अकूनबोना से भगतटोला शांतिमोड़ जाने वाली सड़क पर बाढ़ का पानी तेज गति से प्रवाहित हो रहा है। उधवा- राधानगर आरईओ सड़क पर फुदकीपुर बंगाली पाड़ा, बेगमगंज बेलमोड़ तथा दक्षिण बेगमगंज पंचायत के आमबगान के पास पानी प्रवाहित हो रहा है। उधवा- राधानगर आरईओ सड़क पर यातायात सुविधा में सुधार के लिए गुरुवार को बेगमगंज बेलमोड़ के पास सड़क के संवेदक ने जेसीबी लगाकर सड़क को यातायात के लायक बनवाया। श्रीघर दियारा पंचायत का अधिकांश हिस्सा जलमग्न है।

बाढ़ प्रभावित परिवारों को राहत वितरण में कोताही बरतने का आरोप लगाया है। उधवा में लगभग 21 हजार परिवार बाढ़ से प्रभावित हुआ है लेकिन प्रशासन द्वारा मात्र पांच सौ परिवार को राहत प्रदान किया गया है। इस संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी राजमहल, बीडीओ सह सीओ तथा राधानगर थाना प्रभारी को लिखित रूप में सूचना दी गई है। राहत वितरण के संबंध में अंचल निरीक्षक प्रकाश बेसरा का कहना है कि जिला प्रशासन ने 500 परिवार के लिए राहत सामग्री दी थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप