साहिबगंज : जिरवाबाड़ी ओपी क्षेत्र के गोपालचौकी बड़ा मदनशाही निवासी मो. इरशाद अंसारी की चार साल की बेटी को अगवा करने की कोशिश के आरोप में पुलिस ने चार युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दो अन्य युवकों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। बताया जाता है कि मो. इरशाद अंसारी की चार साल की बेटी मंगलवार की शाम अपने घर के बाहर खेल रही थी। इसी दौरान छह युवक पहुंचे और उसे बहला-फुसलाकर ले जाने लगे। कुछ दूर आगे जाने पर बच्ची को कुछ अनहोनी की आशंका हुई। इसके बाद उसने शोर मचाना शुरू किया। बच्ची की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण जुटे और सभी को घेर लिया। इस क्रम में तीन युवक भाग गए जबकि तीन युवकों को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी।

सूचना मिलने पर जिरवाबाड़ी ओपी प्रभारी विनोद कुमार दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे तथा तीनों को अपने कब्जे में लेते हुए जिरवाबाड़ी ओपी लाये। इन युवकों में राजमहल के महाजन टोली का जुल्फिकार खां तथा गोपालचौकी का अब्दुल अंसारी व सबीर अंसारी हैं। पूछताछ में जॉन व अमन तथा कोयला बाजार निवासी मोती का नाम भी सामने आया। इसके बाद पुलिस फरार तीन आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। इसी मामले में संदेह के आधार पर पुलिस ने पुन्नी टोला से मोहम्मद अब्दुल को गिरफ्तार किया है। सभी को बुधवार को कोरोना की जांच के लिए भेजा गया। गुरुवार की सुबह सभी को जेल भेज दिया जाएगा। इस संबंध में इरशाद अंसारी के बयान पर ओपी में मामला दर्ज किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस