जागरण संवाददाता, साहिबगंज : जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित दो सड़कों में गड़बड़ी उजागर हुई है। विभागीय जांच के क्रम में यह बात सामने आई है। चूंकि पांच साल तक इन सड़कों का रखरखाव संबंधित ठेकेदार को करना है। इसलिए विभाग ने दोनों को नोटिस भेजा। हालांकि, ठेकेदार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। ऐसी स्थिति में दोनों ठेकेदारों को काली सूची में भी डाला जा सकता है। गड़बड़ी दुरुस्त करने के लिए 15 दिन का समय दिया गया है।

जानकारी के अनुसार राजमहल प्रखंड में पश्चिम जामनगर से दौलत टोला तक करीब पांच किलोमीटर सड़क का निर्माण एक करोड़ 74 लाख 50 हजार की लागत से कराने के लिए राजमहल के कासिम बाजार निवासी कैलाश चंद्र साहा ने वित्तीय वर्ष 2017-18 में ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल से अनुबंध किया था। सड़क निर्माण के बाद पांच साल तक सड़क का रखरखाव भी करना था। 2019 में काम पूरा हुआ। काम पूरा होने के बाद एनक्यूएम (नेशनल क्वालिटी मॉनीटर) ने इसकी जांच की। इसमें सड़क की गुणवत्ता खराब पायी गई। विभाग ने ठेकेदार को पत्र भेजकर त्रुटि को दूर करने को कहा, लेकिन उसने इसे नोटिस नहीं लिया। इसके बाद भी करीब आधा दर्जन पत्र भेजा गया, लेकिन उसने उसका जवाब तक नहीं दिया। अब विभाग उनका एकरारनामा रद कर अग्रधन व सुरक्षित राशि जब्त करने की तैयारी कर रहा है।

इसी तरह की गड़बड़ी बरहड़वा प्रखंड में कोटालपोखर से पीपरजोरी तक निर्मित प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में भी की गई है। इस सड़क के लिए वित्तीय वर्ष 2016-17 में ही देवघर जिले के विलियम्स टाउन के राजा बागीचा के रहनेवाले हरिओम शरण ने ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल से एग्रीमेंट किया था। 3.085 किलोमीटर लंबी इस सड़क का निर्माण एक करोड़ 53 लाख रुपये की लागत से हुआ। नेशनल क्वालिटी मॉनीटर ने इस सड़क की गुणवत्ता में भी कमी पायी गयी। बार-बार पत्र भेजे जाने के बाद इस ठेकेदार ने भी सड़कों की मरम्मत नहीं करायी। इसे भी सड़क की मरम्मत कराने के लिए एक पखवारे का समय दिया गया है। मरम्मत नहीं कराने पर एकरारनामा रद कर अग्रधन व सुरक्षित राशि जब्त कर ली जाएगी।

-------

राजमहल व बरहड़वा प्रखंड में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित दो सड़कों में एनक्यूएम ने गड़बड़ी पकड़ी गई है। दोनों ठेकेदारों को पत्र भेजकर गड़बड़ियों को दूर करने को कहा गया, लेकिन पत्र का जवाब अब तक नहीं मिला है। दोनों को 15 दिन का समय दिया गया है। अगर गड़बड़ी दूर नहीं होती है तो उनका एकरारनामा रद कर अग्रिम व सुरक्षित राशि जब्त कर ली जाएगी।

ज्योति शंकर प्रसाद, कार्यपालक अभियंता, ग्रामीण विकास विभाग विशेष प्रमंडल, साहिबगंज

Edited By: Jagran