साहिबगंज : रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अपील मात्र से पूरा जिला बंद हो गया लेकिन सोमवार को प्रशासनिक आदेश का भी कोई असर नहीं हुआ। दोपहर करीब 12 बजे तक यहां के लोगों की दिनचर्या अन्य दिनों की तरह रही। रविवार को जनता  क‌र्फ्यू के लिए प्रशासनिक स्तर पर कोई आदेश निर्गत नहीं किया गया था। हालांकि, दो दिन पूर्व सूचना मिल जाने से लोगों को तैयारी के लिए पूरा समय मिल गया था जिस वजह से जनता क‌र्फ्यू पूरी तरह सफल रहा।

इधर, रविवार की रात अचानक 31 मार्च तक के लिए राज्य सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी। देर रात यह घोषणा हुई। रात में ही साहिबगंज एसडीओ पंकज साव व राजमहल एसडीओ कर्ण सत्यार्थी द्वारा अनुमंडल क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गई लेकिन इसका भी असर सोमवार की सुबह नहीं दिखा। देर रात प्रशासनिक कार्रवाई होने की वजह से साहिबगंज जैसे जिले के हर व्यक्ति तक यह बात नहीं पहुंच सकी। जिन्हें इस बात की जानकारी मिली वे आगामी दिनों के लिए जरूरत की सामग्री खरीदने के लिए घर से निकल पड़े परिणामस्वरूप पुलिस व प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ा जिसके बाद शहर की भीड़ में कुछ कमी आयी। सोमवार जब सुबह हुआ तो अधिकतर चाय-पान दुकानदार भी अन्य दिनों तक तरह पहुंचे और अपनी अपनी दुकानें खोलीं। हर जगह चर्चा तो लॉकडाउन की हो रही थी लेकिन इसमें होता क्या है यह ही उन्हें पता नहीं था। बाद में माइकिग के बाद लोगों को इसके बारे में जानकारी मिली। सुबह में अन्य दिनों की तरह वाहनों का परिचालन होने की सूचना पर एसपी अमन कुमार ने सभी थाना प्रभारियों से बात की और परिचालन बंद कराने को कहा है। कहा कि केवल आवश्यक सेवा से संबंधित वाहन की सड़क पर चलेंगे। इसके बाद एसडीपीओ राजा मित्रा ने टोटो यूनियन के पदाधिकारियों से वार्ता की और वाहनों का परिचालन बंद कराने को कहा। एसडीपीओ ने बताया कि पुलिसकर्मियों को लोगों को जागरूक करने को भी कहा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस