जाटी, साहिबगंज/उधवा : प्रतिबंध के बावजूद पूरे जिले में इन दिनों अवैध लाटरी का कारोबार खूब हो रहा है। कारोबारी भोले भाले लोगों को बेवकूफ बना कर मालामाल हो रहे हैं। कारोबारियों ने लाटरी टिकट बेचने के लिए मोहल्लों में अपना एजेंट बहाल कर रखा है। उन्हें बिक्री के अनुसार कमीशन दिया जाता है। चूंकि बिक्री ठीक-ठाक हो जाती है। इस वजह से एजेंट भी प्रत्येक माह 15 से 20 हजार रुपये प्रत्येक माह आसानी से कमा लेते हैं।

एक अनुमान के मुताबिक जिले में करीब एक हजार युवक प्रत्यक्ष रूप से इस कारोबार में जुड़े हुए हैं। प्रत्येक दिन 50 लाख रुपये का कारोबार होता है। छोटे-छोटे दुकानदार, टोटो चालक, आटो चालक, सब्जी विक्रेता तथा मजदूर वर्ग के लोग तुरंत अमीर बनने के चक्कर में अपनी मेहनत की कमाई गंवा रहे हैं। बीच-बीच में पुलिस कार्रवाई करती है, लेकिन कभी उसकी जड़ तक पहुंचने की कोशिश नहीं की। इस वजह से यह कारोबार खूब फल फूल रहा है।

बताया जाता है कि बंगाल व नगालैंड में बिकनेवाली लाटरी का डुप्लीकेट टिकट छपाकर उसपर यहां खेल होता है। टिकट खरीदनेवालों को कभी-कभार पुरस्कार भी दे दिया जाता है। जानकारों का कहना है कि पूर्व में देवघर से टिकट छपाकर मंगवाया जाता था, लेकिन अब साहिबगंज में ही एक जगह पर टिकट छापने की व्यवस्था कर ली गई है। साहिबगंज शहरी क्षेत्र में भी यह कारोबार चल रहा है। राधानगर थाना मुख्यालय से करीब एक किलोमीटर दूर उधवा चौक से लेकर फुदकीपुर, कटहलबाड़ी, राधानगर, श्रीधर दियारा बाजार सहित अन्य जगहों पर इन दिनों चुपचाप यह कारोबार चल रहा है। कारोबारी कार से घूम घूम कर टिकट खपा रहे हैं।

सेटिग से चल रहा कारोबार : बताया जाता है कि जिले में लाटरी विक्रेताओं के दो गुट इन दिनों सक्रिय हैं। लंबे समय तक जिले में बरहड़वा के मोजाम्मिल गिरोह का वर्चस्व कायम था, लेकिन इन दिनों एक दूसरा कारोबारी सक्रिय हो गया है। यह गुट बरहड़वा से आने वाले कारोबारियों की सूचना पुलिस को दे देता है। पुलिस भी इस गिरोह की सूचना पर त्वरित कार्रवाई करती है। हाल में उधवा, तीनपहाड़ व तालझारी में कई लाटरी विक्रेता पुलिस के हत्थे चढ़े हैं।

सूत्रों की मानें तो राजमहल के कारोबारी ने उधवा के दो-तीन युवकों को टीम में शामिल कर लिया है। ऐसे लोगों को राधानगर में विभिन्न जगहों पर मंडराते हुए देखा जा सकता है। बीते बुधवार को राधानगर थाना प्रभारी कुंदनकांत विमल ने राधानगर चौरंगी मोड़ से अवैध लाटरी टिकट के साथ टिकट विक्रेता आनंद मंडल, रतन मंडल तथा मिथुन मंडल को गिरफ्तार किया गया। सभी जाली टिकट बेचकर लोगों को ठग रहे थे। गिरफ्तार आरोपितों के पास से पुलिस ने लाटरी के 239 पीस टिकट, ब्रिकी का पैसा एवं तीन बाइक बरामद किया था। इस दौरान धनंजय मंडल तथा बरहड़वा थाना क्षेत्र का उमेर शेख भागने में सफल हो गया था। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार तीनों व्यक्तियों से पूछताछ के क्रम में पता चला कि बरहड़वा थाना क्षेत्र का मोजाम्मिल शेख लाटरी का बड़ा कारोबारी है। उनके पास से लाटरी का टिकट लाकर धनंजय मंडल तथा उमेर शेख क्षेत्रों के टिकट विक्रेताओं को देता था। बताया जाता है कि बर्चस्व के इसी खेल में किसी ने पिछले दिनों बरहड़वा पुलिस को सूचना दी थी जिसके बाद झिकटिया स्थित प्रोफेसर कालोनी में मुश्ताक शेख के मकान में छापेमारी कर पुलिस ने 20 करोड़ से अधिक का लाटरी टिकट बरामद किया था। मुश्ताक शेख के उक्त मकान को मोजाम्मिल ने भाड़ा पर ले रखा था। छापेमारी में अमरपुर चंडीपुर निवासी वसीम शेख व रेलवे ट्रैक के करीब रहने वाले रहीम शेख को गिरफ्तार कर लिया गया था। सात आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इनमें से कई आरोपित अब भी फरार हैं।

टिकट असली या नकली तय नहीं : बरहड़वा तथा राधानगर थाना क्षेत्र के अलावा और विभिन्न जगहों से बरामद लाटरी टिकट आरिजनल हैं या डुप्लीकेट यह अब तक स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस ने कभी यह पता लगाने की कोशिश भी नहीं की। पिछले दिनों बरहड़वा में लाटरी कारोबारी मोजाम्मिल के ठिकाने से कई रजिस्टर भी बरामद किया गया था जिसमें विक्रेताओं की सूची सहित पूरे हिसाब-किताब का ब्योरा था लेकिन पुलिस ने उसपर विशेष जांच-पड़ताल नहीं की। इस वजह से कारोबार पूर्व की तरह ही जारी है।

----

वर्जन :::

अवैध लाटरी के कारोबारियों के खिलाफ पुलिस समय-समय पर कार्रवाई करती है। हाल के दिनों में कई कारोबारी पकड़े गए हैं। अगर कहीं अवैध लाटरी का कारोबार चल रहा है तो लोग उन्हें सूचना दें तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

अनुरंजन किस्पोट्टा, एसपी, साहिबगंज

Edited By: Jagran