जागरण संवाददाता, साहिबगंज : कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन हर जरूरी कदम उठा रहा है। उपायुक्त वरुण रंजन ने बताया कि साहिबगंज और उधवा में 700 बेड का क्वारंटाइन सेंटर बनाया जा रहा है। यह सेंटर वैसे लोगों के लिए होगा जो दूसरे राज्यों या जिलों से आए हैं या उन्हें घरों में क्वारंटाइन रहने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें यहां 14 दिनों तक निगरानी में रखा जाएगा।

उन्होंने बताया कि क्वारंटाइन सेंटरों का उद्देश्य बाहर से आए लोगों की निगरानी भी है, ताकि वे किसी अन्य व्यक्तियों को संक्रमित न कर दें। इस परिस्थिति में उन्हें जिला प्रशासन की निगरानी में रखा जाएगा। वहां वे 14 दिनों तक रह सकेंगे और कोरोनो वायरस से संबंधित कोई भी लक्षण नजर आने पर उन्हें तत्काल आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया जाएगा। उनका उपचार किया जाएगा। उपायुक्त ने जिलेवासियों से कहा है कि क्वारंटाइन अवधि में विशेष ध्यान रखें यह केवल सतर्कता एवं सुरक्षा के लिए है एवं बेहद आवश्यक है।

साहिबगंज व राजमहल में सौ सौ बेड का आइसोलेशन सेंटर: मेडिकल सुविधा हर मरीज तक सुगमता से पहुंचे इसके लिए साहिबगंज सदर अस्पताल व राजमहल अनुमंडल अस्पताल को आइसोलेशन सेंटर के तौर पर विकसित किया जा रहा है। उपायुक्त ने बताया कि दोनों जगह 100-100 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया जा रहा है, जिसमें हर तरह की सुविधा उपलब्ध की जाएगी। उपायुक्त वरुण रंजन ने कहा कि अभी साहिबगंज जिले में बाहर से आये लोगों एवं अन्य लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। कोरोना के लक्षण दिखने वाले संदिग्ध को तत्काल आइसोलेशन में रखा जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस