रांची, जासं। राजधानी की जलापूर्ति बुधवार को प्रभावित रहेगी। बूटी पंप हाउस में पाइप के इंटरकनेक्शन का काम किया जाना है। इसे लेकर जलापूर्ति ठप रखी गई है। ताकि यह काम आसानी से किया जा सके। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि इसकी वजह से बूटी, इरबा, कोकर, कांटाटोली, लालपुर, नामकुम, चुटिया आदि इलाकों की जलापूर्ति बाधित रहेगी।

इन इलाकों में बाधित रहेगी जलापूर्ति

रातू रोड से लालपुर संप, मोरहाबादी एवं रातू रोड संप में भी जलापूर्ति नहीं हो पाएगी। कार्यपालक अभियंता ने बताया कि बुधवार को ही इंटरकनेक्शन का काम पूरा कर लिया जाएगा। इसे लेकर इंजीनियरों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि हर हाल में बुधवार को ही यह काम खत्म कर लिया जाए और गुरुवार से राजधानी में जलापूर्ति चालू कर दी जाए।

बिजली विभाग ने काटे 548 बकायेदारों के कनेक्शन, 67.93 लाख रुपया था बकाया

राजधानी की जलापूर्ति बुधवार को प्रभावित रहेगी। बूटी पंप हाउस में पाइप के इंटरकनेक्शन का काम किया जाना है। इसे लेकर जलापूर्ति ठप रखी गई है। ताकि यह काम आसानी से किया जा सके। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि इसकी वजह से बूटी, इरबा, कोकर, कांटाटोली, लालपुर, नामकुम, चुटिया आदि इलाकों की जलापूर्ति बाधित रहेगी।

रुपा तिर्की को न्याय दिलाने के लिए दिया धरना

विभिन्न आदिवासी संगठनों द्वारा रुपा तिर्की न्याय मोर्चा के बैनर तले राजभवन के समक्ष एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया। रुपा तिर्की न्याय मोर्चा के बैनर में आदिवासी छात्र संघ, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद् रांची, बिरसा सेना, झारखण्ड युथ क्रिश्चियन एसोशिएसन , आदिवासी एकता मंच नामकुम एवं रांची के विभिन्न सरना समिति शामिल हैं। धरना के माध्यम से सभी संगठनों ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपते हुए मांग रखा कि मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। रुपा तिर्की के मृत शरीर का रिपोस्टमार्टम कराई जाए। साथ ही, रुपा तिर्की के परिजन एवं रुपा तिर्की के लिए न्याय मांगने वाले लोगों पर दर्ज फर्जी मुकदमा वापस लिया जाए।

Edited By: Vikram Giri