रांची, जासं। कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन 17 मई तक बढऩे से मैट्रिक व इंटर के रिजल्ट का इंतजार बढ़ गया। झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन को लेकर संशय में है। लॉकडाउन बढऩे से अब जैक मैट्रिक व इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन को लेकर की गई तैयारी की जानकारी स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को देगा। वहां से जो निर्देश मिलेगा, उसी के आलोक में मूल्यांकन पर निर्णय होगा।

जैक सचिव महीप कुमार सिंह ने शनिवार को कहा कि मूल्यांकन को लेकर अभी कुछ कह पाना संभव नहीं है। एक-दो दिनों में जो निर्णय होगा, उसकी जानकारी दी जाएगी। गौरतलब है कि जैक ने 4 मई से मूल्यांकन की तैयारी कर ली थी, 29 अप्रैल को जैक अध्यक्ष व सचिव ने सभी डीईओ के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग कर नए सिरे से मूल्यांकन केंद्र की रिपोर्ट देने को कहा था, जिसमें शारीरिक दूरी का पालन करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के सारे मानक का पालन करना था।

14 ग्रीन जोन वाले जिलों में शुरू हो सकता है मूल्यांकन

राज्य के कुल 24 जिलों में 14 ग्रीन जोन और 09 ऑरेंज जोन हैं। केवल रांची जिला ही रेड जोन में है। 24 जिले में जैक ने 19 जिलों में मूल्यांकन केंद्र बनाया है। इस 19 में 09 ऑरेंज जोन, 01 रेड जोन व 09 ग्रीन जोन में हैं। इधर, जिन पांच जिलों - लोहरदगा, लातेहार, चतरा, सरायकेला व खूंटी में मूल्यांकन केंद्र नहीं बनाया गया है, वे सभी ग्रीन जोन में हैं। यदि रेड व ऑरेंज जोन से केंद्र बदलकर इन पांच ग्रीन जोन वाले जिले में नया केंद्र बना दिया जाए, तो कुल 14 जिले ऐसे हो जाएंगे जहां मूल्यांकन संभव हो सकता है।

रांची रेड जोन में है। यहां कुल 13 मूल्यांकन केंद्र हैं। जैक रांची से केंद्र बदलकर बगल के ग्रीन जोन वाले जिला लोहरदगा व खूंटी में केंद्र बना सकता है। जैक मूल्यांकन को लेकर सभी संभव उपायों पर मंथन कर रहा है। उसकी योजना है कि मूल्यांकन कार्य 15 दिनों के भीतर पूरा करा ले। इसके बाद रिजल्ट तैयार करने में 10 दिन लगेंगे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस