रांची, (संजय कुमार)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पूर्व सरकार्यवाह व विहिप के संपर्क अधिकारी भय्याजी जोशी ने कहा कि समाज हमारा हितैषी बन कर खड़ा है। निधि समर्पण अभियान के दौरान सामाजिक भावनात्मक एकता के अभूतपूर्व दर्शन हुए। लोग हमारे विचारों से जुड़ रहे हैं। परंतु उन विचारों को संस्कारों में कैसे बदला जाए, यह सोचना है। इसलिए ह‍िंंदुओं में हमें ह‍िंंदू का भाव जगाना है। लोग अपनी परंपरा, रीति रिवाज, धर्म और संस्कृति आदि का पालन करें, इसके लिए प्रयास करना होगा।

आचरण को संगठन के अनुकूल बनाना हमारा लक्ष्य 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने कहा कि समाज में विचारों से प्रभावित होकर लोग संगठन से जुड़ते हैं परंतु उनके आचरण को संगठन के अनुकूल बनाना हमारा लक्ष्य होना चाहिए। हमें सामाज को जगाना होगा तभी समाज अपने राष्ट्रधर्म को पहचान पाएगा। वह विश्‍व ह‍िंंदू परिषद केंद्रीय प्रबंध समिति एवं प्रन्यासी मंडल की जूनागढ़ में चल रही तीन दिवसीय बैठक के अंतिम दिन रविवार को विहिप के अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

ह‍िंंदू और ह‍िंंदुत्‍व को कभी अलग नहीं किया जा सकता : डा. आरएन सिंह

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय अध्यक्ष पद्मश्री डा. आरएन सिंह ने कहा कि जिस प्रकार माता को मातृत्व से, देव को देवत्व से अलग नहीं किया जा सकता, ठीक उसी प्रकार हिंदू को हिंदुत्व से अलग नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा, आत्मरक्षा के लिए शास्त्र के साथ शस्त्र उठाना हमारा धर्म है। भगवान श्रीकृष्ण भी धर्म की रक्षा हेतु सुदर्शन चक्र चलाए थे। ह‍िंंदू को पलायन नहीं, पराक्रम की आवश्यकता है। डा. सिंह ने कहा कि हिंदू संस्कृति गंगा के समान है। जिस प्रकार गंगा में असंख्य नदियां आकर मिल जाती है ठीक उसी प्रकार विश्व के समस्त धर्मधरा हिंदू संस्कृति में विलीन हो जाती है। हिंदू संस्कृति को संसार से अलग करना शरीर से प्राण को अलग करने के समान है।

ह‍िंंदू समाज हलाल मार्का की वस्तुओं का बहिष्कार करें

विश्व हिंदू परिषद विदेश विभाग के स्वामी विज्ञानंद ने हलाल अर्थव्यवस्था की चर्चा करते हुए कहा कि इसके माध्यम से मुस्लिमों ने आर्थिक जिहाद खड़ा किया है। यह जजिया कर के समान है। उन्होंने आह्वान किया कि हिंदू समाज हलाल मार्का की वस्तुओं का बहिष्कार करें।

दिनेश भाई और रमेश गुप्ता बने कोषाध्यक्ष

बैठक में कई लोगों को नई जिम्मेदारी दी गई। डा. श्याम अग्रवाल, दिनेश भाई नावढिय़ा व रमेश गुप्ता को केंद्रीय कोषाध्यक्ष, अधिवक्ता दिलीप भाई त्रिवेदी को केंद्रीय सहमंत्री व विधि प्रकोष्ठ केंद्रीय संयोजक, अधिवक्ता अभिषेक अत्रेय को विधि प्रकोष्ठ केंद्रीय सहसंयोजक, सरोज सोनी को मातृशक्ति केंद्रीय सहसंयोजिका तथा नीरज कुमार को बजरंग दल केंद्रीय सह संयोजक के अलावा 31 अन्य कार्यकर्ताओं को प्रांत व क्षेत्र की जिम्मेदारी दी गई।

400 प्रत‍िन‍िध‍ि बैठक में थे मौजूद

बैठक में केंद्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार, केंद्रीय उपाध्यक्ष हुकुम चंद सावला, केंद्रीय संगठन मंत्री विनायकराव देशमुख, जर्मनी के प्रतिनिधि रमेश जैन, थाईलैंड के प्रतिनिधि सुशील सर्राफ, इटली के प्रतिनिधि वि_ल भाई, बांग्लादेश के प्रतिनिधि सुुनीर कान्त शाहा, कृष्ण मंडल, देवव्रत नाथ, नेपाल के प्रतिनिधि जितेंद्र सिंह, प्रह्लाद कुमार सहित झारखंड से क्षेत्र संगठन मंत्री अकारपु केशव राजू, क्षेत्र मंत्री वीरेंद्र बिमल, कार्याध्यक्ष तिलक राज मंगलम, प्रांत मंत्री डा. वीरेंद्र साहू, प्रांत संगठन मंत्री देवी सिंह सहित पूरे देश व विदेश के लगभग 400 प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Edited By: M Ekhlaque