रांची, जासं। बांग्लादेश में हिंदुओं पर लगातार हो रहे हमले और हिंदू धर्मस्थलों तथा पूजा पंडालों को जलाए जाने का विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने कड़ा विरोध किया है। विहिप ने इन हिंसक घटनाओं के विरोध में बुधवार 20 अक्टूबर को पूरे देश में विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। इस मौके पर विहिप के कार्यकर्ता सभी जिला व प्रखंड मुख्यालयों पर इस्लामी आतंकवाद का पुतला दहन करेंगे। साथ ही इस तरह की हिंसक घटनाओं पर रोक लगाने के लिए बांग्लादेश सरकार पर दबाव बनाने के लिए राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपेंगे। विहिप ने हिंदू समाज के अधिक से अधिक लोगों से इस प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की है।

विहिप के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि बांग्लादेश में हिंदुओं पर जिहादियों के हमले लगातार हो रहे हैं। हिंदू धर्मस्थलों को भी निशाना बनाया जा रहा है। दुर्गा पूजा के दौरान वहां 22 से अधिक जिलों में हिंसा की घटनाएं हुईं। इनमें हिंदुओं के 150 से ज्यादा पूजा पंडालों और इस्कॉन मंदिर को आग के हवाले कर दिया गया। देवी-देवताओं की मूर्तियां तोड़ दी गई। इतना सब होने के बाद भी बांग्लादेश की सरकार आंख बंद कर बैठी है।

हिंदुओं का बढ़ रहा आक्रोश

परांडे ने कहा कि बांग्लादेश में हो रहे इन वीभत्स कांडों को देखकर हिंदुओं का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। इसलिए विहिप बांग्लादेश सरकार से मांग करती है कि हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार व आक्रमणों को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए। साथ ही भारत सरकार भी बांग्लादेश पर इन घटनाओं को रोकने के लिए दबाव बनाए। बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक सोहन सिंह सोलंकी ने कहा कि इस प्रदर्शन में बजरंग दल के कार्यकर्ता भी शामिल होंगे। बांग्लादेश में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का पूरे देश में कड़ा विरोध किया जाएगा।

Edited By: Sujeet Kumar Suman