रांची/नामकोम, जासं। आदिवासी किसान मोर्चा, सीपीआइएम,अखिल भारतीय किसान मोर्चा, माले सहित विभिन्न संगठनों ने किसानों के समर्थन में आज नामकुम रेलवे स्टेशन पर वर्द्धमान पैसेंजर ट्रेन को बाधित करने के लिए रेलवे ट्रैक पकड़कर नामकुम स्टेशन तक पैदल मार्च किया। मार्च को रोड, पुलिया, नामकुम रेलवे स्टेशन से होते हुए नामकुम रेलवे ओवर ब्रिज के नीचे जाकर समाप्त किया।

इस मौके पर एमसीसी के सुशांतो मुखर्जी, सीपीआइएम के सचिव सुखनाथ लोहरा, वासी किसान मोर्चा के सचिव प्रफुल्ल लिंडा, सीपीआइएम के जोनल कमेटी सचिव एसके राय के झारखंड राज्य उपाध्यक्ष राजेश यादव, सीपीआइ के जिला सचिव अजय सिंह, अखिल भारतीय किसान सभा के सचिव मधु कच्छप, माले जिला सचिव भुनेश्वर केवट सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

एफआइआर की इंतजार में नामकुम थाने की पुलिस

राजधानी रांची के नामकुम थाना क्षेत्र स्थित नूरी मस्जिद के पास कल जमीन कारोबारी बुलंद पर ताबड़तोड़ फायरिंग की गई थी। हालांकि कारोबारी को गोली नहीं लगी। वह बाल-बाल बच गया। पीड़ित जमीन कारोबारी का नाम बुलंद है और वह नामकुम थाना क्षेत्र का ही रहने वाला है। इस गोलीबारी के 24 घंटे बीत जाने के बावजूद नामकुम थाने की पुलिस अपराधी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। नामकुम थाना प्रभारी सुनील कुमार तिवारी ने बताया कि इस मामले को लेकर अब तक किसी ने थाने में लिखित आवेदन नहीं दिया है। लिखित आवेदन के बाद ही पुलिस आरोपित को गिरफ्तार कर सकेगी।

बता दें कि जमीन कारोबारी बुलंद अपने कुछ अन्य साथियों के साथ मौलाना आजाद कॉलोनी स्थित नूरी मस्जिद के पास खड़ा था। इसी दौरान अपराधी वहां पहुंचा और गोली चला दी। गोली चलने के बाद थोड़ी देर के लिए अफरा-तफरी का माहौल हो गया। पहले तो किसी को कुछ समझ में नहीं आया, लेकिन अपराधियों को भागता देख मामला तुरंत स्पष्ट हो गया कि जमीन कारोबारी पर ही गोली चलाई गई थी। बताया गया कि घटना के वक्त बुलंद नाम के जमीन कारोबारी के साथ मारपीट की गई और बाद में गोली मारी गई। घटना की सूचना मिलते ही नामकुम थाना प्रभारी सुनील तिवारी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली।

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि इस मामले की जांच की जिम्मेवारी नामकुम थाना प्रभारी को दी गई है। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि जिस पर गोली चलाई गई है उसे अपनी सुरक्षा हेतु थाने में लिखित शिकायत करनी चाहिए और पुलिस किसी भी पीड़ित को सुरक्षा मुहैया कराने में सक्षम है। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने आश्वासन दिया है कि इस मामले की जल्द ही जांच कर ली जाएगी और जो भी दोषी होंगे उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Edited By: Kanchan Singh